संतान प्राप्ति के लिए जिम्मेदार हो सकते हैं ग्रह-नक्षत्र, ज्योतिषी के ये उपाय हैं बहुत कारगार

Astrology Upay: किसी भी व्यक्ति का वैवाहिक जीवन तभी पूर्ण होता है, जब वो माता-पिता बन जाते हैं. संतान प्राप्ति की इच्छा के लिए लोग न जानें क्या-क्या करते हैं. लेकिन आजकल बदलते लाइफस्टाइल के चलते लोगों की कम उम्र में ही कई ऐसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है, जिसके चलते उन्हें संतान सुख की प्राप्ति नहीं हो पाती. कई बार संतान सुख की प्राप्ति के पीछे हमारे ग्रह-नक्षत्र भी जिम्मेदार होते हैं. अगर आपके साथ भी ऐसा ही कुछ हो रहा है तो आप कुछ ज्योतिषीय उपायों को अपनाकर देख सकते हैं. संभव है कि इनके प्रभाव से संतान सुख की प्राप्ति हो जाए.  

संतान प्राप्ति के लिए करें ये उपाय 

आकड़े की जड़

शादी के कई साल बाद भी अगर संतान की प्राप्ति नहीं हो रही, तो मासिक धर्म के सातवें दिन सफेद आकड़ें की जड़ लेकर शिवलिंग के ऊपर से सात बार घुमा दें. इसके बाद इसे लाल कपड़े में लपेट दें और कमर पर बांध लें. ऐसा करने से महिला का गर्भ ठहर जाएगा और आपको जल्द ही खुशखबरी सुनने को मिलेगी. 

चांदी की बांसुरी

अगर कई बार गर्भधारण के बाद भी संतान खराब हो रही है, तो गर्भ धारण के बाद चांदी की बांसुरी लेकर पति-पत्नी दोनों मिलकर गुरुवार के दिन राधा-कृष्ण को अर्पित कर दें. ऐसा करने से संतान पर आ रहे विघ्न दूर होते हैं और गर्भपात का खतरा नहीं रहता. 

लाल गाय की सेवा

ज्योतिषिय उपायों के अनुसार अगर महिला की कमी के कारण संतान की प्राप्ति में कोई दिक्कत आ रही है, तो लाल रंग की गाय और बछड़े की नियमित रूप से सेवा करनी चाहिए. साथ ही भूरे रंग का कुत्ता घर में पालें. ऐसा करने से जल्दी ही गर्भधारण हो जाएगा. 

Lakshmi Ji Upay: इन अचूक उपायों से कर लें साल की शुरुआत, सालभर जमकर बरसेगा पैसा

काल सर्प योग या पितृ दोष

ज्योतिषियों का मानना है कि कई बार काल सर्प योग या पितृ दोष के कारण भी संतान सुख की प्राप्ति नहीं हो पाती. अगर इन दोनों दोषों के कारण दिक्कत आ रही हैं, तो पति-पत्नी दोनों को रामेश्वरम की यात्रा करना चाहिए. और वहां काल सर्प पूजन करवाना चाहिए. वहीं, पितृ दोष होने पर पीपल का पौधा लगाएं और उसकी सेवा करें. ऐसा करने से जल्द ही आपको संतान की प्राप्ति होगी. 

गोमती चक्र

अगर किसी महिला को बार-बार गर्भपात हो रहा है तो शुक्रवार के दिन गोमती चक्र लाल वस्त्र में बांधकर गर्भवती महिला की कमर में बांध दें. इस उपाय को करने से गर्भपात रुक जाता है और महिला को संतान सुख की प्राप्ति होती है. 

Masik Shivratri 2022: 1 जनवरी 2022 को ये कार्य करने से प्राप्त होगी भगवान शिव और माता पार्वती की कृपा

Disclaimer: यहां मुहैया सूचना सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. यहां यह बताना जरूरी है कि ABPLive.com किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पुष्टि नहीं करता है. किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह लें.

 

Source link ABP Hindi