सफलता और तरक्की के लिए गणेश जी को ऐसे करें प्रसन्न, जानें बुध दोष के लक्षण और उपाय

Bhudwar Ganesh Ji Ke Upaye: बुधवार का दिन गणेश जी (ganesh ji) को समर्पित है. इस दिन गणेश जी की पूजा-अर्चना आदि करने से बुध ग्रह के दोषों (budh dosha) और प्रभावों को दूर किया जा सकता है. गणेश महोत्सव (ganesh mahotsav) के दौरान ये पहला बुधवार (first wednesday of ganesh mahotsav) पड़ रहा है, इसलिए ये काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है. कहते हैं अगर किसी व्यक्ति की कुंडली में बुध ग्रह कमजोर (budh weak in kundali) होता है, तो उस पर परेशानियों की बरसात हो जाती है. वहीं, अगर कुंडली में बुध बलवान हो तो इंसान को कई सारी खुशियों की सौगात मिल जाती है. आइए जानते हैं आखिर बुध हमारे जीवन को किस तरह प्रभावित करता है और इसके क्या उपाय हैं.

बुध दोष के लक्षण (budh dosh symptoms)
अगर किसी व्यक्ति की कुंडली में बुध दोष है तो उसकी जिंदगी में परेशानियों का पहाड़ टूट पड़ता है. इंसान बीमारी के घेरे में घिर जाता है. बुध दोष होने पर आर्थिक तंगी रहने लगती है, व्यक्ति कर्ज में डूब जाता है. वहीं, मान-सम्मान सब खत्म होने लगते हैं. अगर किसी का बुध ग्रह कमजोर है तो वे इंसान शिक्षा में कमजोर हो जाता है, सूंघने की शक्ति चली जाती है और अपनी बातों के जरिए प्रभावशाली भी नहीं बन पाता है. बुध दोष के प्रभावों को कम करने के लिए बुधवार के दिन गणेश की पूजा-अर्चना आदि करने से दोषों का प्रभाव कम हो जाता है और व्यक्ति के जीवन में खुशियां वापस आ जाती हैं. 

बुध दोष करने के उपाय (budh dosh upaye)
कहते हैं अगर किसी व्यक्ति की कुंडली में बुध दोष है तो उसे बुधवार के दिन किन्नरों को हरे रंग के वस्त्र दान करने चाहिए. इसके साथ ही आप बुधवार को किसी जरूरमंद या गरीब को हरी मूंग का दान कर सकते हैं. ऐसा करने से बुध दोष के प्रभाव कम होते हैं और बुध ग्रह को मजबूती मिलती है. साथ ही स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से मुक्ति मिलती है. बुधवार के दिन इन चीजों का दान करना बहुत शुभ माना जाता है. 

अगर आप की करियर की ग्रोथ रुक रही है तो बुधवार के दिन गाय को हरा चारा खिलाने से समस्या दूर होती है. साथ ही, अगर बुघवार के दिन गणेश स्त्रोत का 11 बार पाठ (ganesh strote for 11 days) करेंगे तो परिवार की सभी परेशानियां दूर हो जाएंगी और घर में सुख-समृद्धि का वास होगा.

गणेश चतुर्थी का पहला बुधवार है जो कि काफी महत्वपूर्ण है. बिजनेस और नौकरी के लिहाज से बुधवार को गणपति को सिंदूर अर्पित करें. अगर घर पर विराजमान हैं तो घर पर वरना मंदिर में जाकर करें. इसके साथ ही एक हरे रंग के कपड़े में पांच मुट्ठी हरी मूंग की दाल बांधकर पोटली बना लें और इस पोटली को सूर्योदय से पहले या सूर्यास्त के बाद गणेश मंत्र बोलते हुए जल में प्रवाहित करें. ऐसा करने से आर्थिक परेशानियों से भी मुक्ति मिलेगी. 

Ganesh Chaturthi 2021: गणेश जी को भूलकर भी न अर्पित करें ये चीजें, इससे घर में आती है दरिद्रता

Mahalaxmi Vrat 2021: आज से शुरू हैं 16 दिवसीय महालक्ष्मी व्रत, शुभ मुहूर्त में करेंगे लक्ष्मी जी की पूजा तो बनी रहेगी कृपा

 

Source link ABP Hindi