सिद्धू के साथ संबंधों को लेकर सीएम चन्नी ने दिया ये जवाब, अब किस बात पर मच रहा बवाल

Punjab Assembly Election 2022: सीएम के चेहरे को लेकर नवजोत सिह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) की नाराजगी की खबरों के बीच पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी (Charanjit Singh Channi) ने सिद्धू से रिश्तों को लेकर बड़ी बात कही है. पंजाब कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू (Punjab Congress Chief) के साथ संबंधों को लेकर सीएम चन्नी से जब सवाल किया गया तो उन्होंने अलग अंदाज में इसका उत्तर दिया.

सीएम चरणजीत सिंह चन्नी (Charanjit Singh Channi) ने कहा, मैंने सिद्धू साहब से कहा है, आप जहां भी जाएंगे मैं आपके साथ चलूंगा. उन्होंने (चन्नी) कहा कि मैं उनके (नवजोत सिंह सिद्धू) साथ काम करना जारी रखूंगा. उन्होंने इस दौरान ये भी कहा कि मैं पार्टी के लिए किसी भी तरह की कुर्बानी देने के लिए तैयार हूं और रहूंगा. चन्नी ने ये भी कहा कि वो पार्टी के वफादार सिपाही हैं, पार्टी उन्हें जो भी जिम्मेदारी सौंपेगी वो उसे निभाते चलेंगे.

सिद्धू की है ये इच्छा

पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू चुनाव से पहले पार्टी की तरफ से सीएम उम्मीदवार के नाम की घोषणा चाहते हैं. हालांकि पंजाब चुनाव प्रचार समिति के प्रमुख सुनील जाखड़ ने स्पष्ट कर दिया था कि पार्टी चुनाव से पहले सीएम पद के चेहरे का ऐलान नहीं करेगी. जाखड़ ने कहा कि पार्टी आलाकमान ने 2017 के विधानसभा चुनाव से पहले कैप्टन अमरिंदर सिंह को अपना सीएम उम्मीदवार घोषित किया था, जो बस एक अपवाद था. जाखड़ ने कहा, “इस बार आलाकमान ने फैसला किया है कि पंजाब चुनाव उसके सामूहिक नेतृत्व में लड़े जाएंगे, चाहे कोई इसे पसंद करे या नहीं.” उन्होंने कहा कि चुनाव के बाद निर्वाचित विधायक ही अपना नेता चुनेंगे.

ये भी पढ़ें- UP Election 2022: जब आप बिजली ही नहीं देते थे तो मुफ्त की बात कहां ? अखिलेश यादव के वादे पर सीएम योगी का पलटवार

नवजोत सिंह सिद्धू ने एक टीवी चैनल से बात करते हुए कहा कि पंजाब के लोग जानना चाहते हैं कि उन्हें कीचड़ से कौन और कैसे निकालेगा? लोग रोडमैप के बारे में भी जानना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि 2017 के चुनाव के दौरान वह खुद आम आदमी पार्टी से पूछते थे कि उनकी बारात का दूल्हा कहां है? इसलिए लोग मुझसे इस बारे भी यही सवाल पूछेंगे.

ये भी पढ़ें- Dharm Sansad Hate Speech: उत्तराखंड के डीजीपी का बयान- FIR में जोड़ा गया सागर सिंधु महाराज, यति नरसिंहानंद गिरी का नाम

 

 

Source link ABP Hindi