उत्तराखण्ड में अगला मुख्यमंत्री कौन बन सकता है, जानें किन नामों की है चर्चा

देहरादूनः भाजपा में नए मुख्यमंत्री पद के लिए माथापच्ची का दौर जारी है. दिल्ली से लेकर देहरादून तक चर्चाएं हैं कि उत्तराखंड का नया मुख्यमंत्री कौन होगा? 115 दिन मुख्यमंत्री रहे तीरथ सिंह रावत को अचानक इस्तीफा देना पड़ा, हालांकि इसे संवैधानिक संकट की वजह बताया जा रहा है, लेकिन इसके पीछे कुछ राजनीतिक घटनाक्रम भी हो सकता है. अब सभी के जहन में ये सवाल है कि उत्तराखंड में नए मुख्यमंत्री कौन होगा?

उत्तराखंड में नया मुख्यमंत्री कौन होगा इसका जवाब जानने के लिए हर कोई बेताब है, सियासी गलियारों में चर्चा है कि उत्तराखंड का मुख्यमंत्री इस बार विधायकों में से ही होगा. लेकिन केंद्रीय हाईकमान किस पर भरोसा जताता है, यह आज शाम तक ही तय हो पाएगा. भाजपा को 2022 के चुनावों से पहले जातीय और क्षेत्रीय समीकरणों को साधना सबसे बड़ी चुनौती है, क्योंकि भाजपा के सामने इस वक्त 2022 के चुनावों के साथ-साथ संगठन में समन्वय बनाना है.

इन विधायकों के नाम की चर्चा  
भाजपा यदि विधायकों में से सीएम चुनती है तो माना जा रहा है कि सतपाल महाराज, पुष्कर सिंह धामी, विशन सिंह चुफाल और धन सिंह रावत का नाम सबसे आगे है. लेकिन इसके साथ ही भाजपा को जातीय और क्षेत्रीय समीकरण भी साधना होगा यदि भाजपा ब्राह्मण चेहरे पर दांव खेलती है तो उसके लिए कुमाऊं से बंशीधर भगत और ठाकुर चेहरा बिशन सिंह चुफाल हो सकते है ,तो वही गढ़वाल से ठाकुर चेहरे के तौर पर सतपाल महाराज और धन सिंह रावत भी प्रबल दावेदारों में है.

सांसदों के नाम भी आए चर्चा में 
 इन सब के बीच नई चर्चाएं अब सांसदों में से भी मुख्यमंत्री बनने को लेकर शुरू हो गई हैं.खबर यह भी चल रही है कि भाजपा 2022 के चुनावों के मद्देनजर किसी सांसद के बड़े चेहरे पर भी दांव खेल सकती है, सांसदों में अनिल बलूनी, रमेश पोखरियाल निशंक और अजय भट्ट का नाम मुख्यमंत्री पद के लिए भी चर्चा में है.

शाम तक होगा नए सीएम चेहरे का एलान
भाजपा के सभी विधायकों को देहरादून आने के लिए कहा गया है. अधिकांश विधायक अपने क्षेत्र से देहरादून पहुंच गए हैं. 3:00 बजे भाजपा की विधानमंडल दल की बैठक होगी और उसमें सीएम के नए चेहरे पर विधायकों से रायशुमारी की जाएगी. इसके लिए बकायदा दिल्ली से पर्यवेक्षक के तौर पर नरेंद्र सिंह तोमर और वी पुरंदेश्वरी समेत प्रदेश प्रभारी और सह प्रभारी भी देहरादून पहुंच चुके हैं.माना जा रहा है कि  दिल्ली से आए बड़े नेता सभी विधायकों से रायशुमारी करेंगे और उसके बाद ही प्रदेश को नया मुख्यमंत्री मिलेगा. लेकिन राज्य का नया मुख्यमंत्री कौन होगा इस पर सस्पेंस शाम तक ही साफ हो पाएगा.

यह भी पढ़ें

कोरोना की दूसरी लहर खत्म नहीं हुई, तीसरी लहर का आना या न आना हमारे हाथ में है- डॉ वीके पॉल
 
मुख्यमंत्री बनते ही सुर्खियों में आ गए थे तीरथ सिंह रावत, जानिए- वो बयान जिन पर खूब मचा बवाल

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*