जुलाई 2021 में एकादशी व्रत कब – कब? जानें व्रत कथा, पूजा विधि और पारण का समय

Yogini Ekadashi 2021 Date: हिंदू धर्म में एकादशी व्रत का विशेष महत्व है. एकादशी व्रत हर एकादशी तिथि को रखा जाता है, जो कि एक महीने में दो बार आती है. एक एकादशी कृष्ण पक्ष में और दूसरी एकादशी शुक्ल पक्ष में. जुलाई महीने के कृष्ण पक्ष की एकादशी को योगिनी एकादशी और शुक्ल पक्ष की एकादशी को देवशयनी एकादशी कहते हैं. एकादशी व्रत भगवान विष्णु को समर्पित होता है. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार एकादशी व्रत करने से मृत्यु के बाद मोक्ष की प्राप्ति होती है. आइए जानते हैं जुलाई महीने में कब- कब एकादशी पडे़गी?

योगिनी एकादशी 2021 –तिथि शुभ मुहूर्त

योगिनी एकादशी 2021 – 5 जुलाई 2021   

मास, तारीख एवं दिन : आषाढ़ मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी तिथि, दिन सोमवार

 

योगिनी एकादशी 2021 मुहूर्त

  • एकादशी तिथि प्रारम्भ4 जुलाई 2021 को शाम 07:55 बजे
  • एकादशी तिथि समाप्त5 जुलाई 2021 को रात 10:30 बजे
  • पारण (व्रत तोड़ने का) का समय6 जुलाई को प्रातः काल 05:29 बजे से 08:16 बजे तक

देवशयनी एकादशी 2021 –शुभ मुहूर्त, तिथि दिन

देवशयनी एकादशी20 जुलाई 2021

आषाढ़ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को देवशयानी एकादशी कहते हैं.  

देवशयनी एकादशी मुहूर्त

  • एकादशी तिथि प्रारम्भ19 जुलाई 2021 को रात 09:59 बजे से.
  • एकादशी तिथि समाप्त20 जुलाई 2021 को शाम 07:17 बजे तक.
  • एकादशी व्रत पारण21 जुलाई 2021 को सुबह 05:36 से 08:21 बजे तक.

एकादशी व्रत पूजा सामग्री लिस्ट

एकादशी व्रत के दिन भक्त को अपने पूजन में इन सामग्रियों -श्री विष्णु जी का चित्र अथवा मूर्ति, पुष्प, चंदन, अक्षत, तुलसी दल, नारियल, सुपारी, लौंग,धूप, दीप, घी, पंचामृत, फल, मिष्ठान को शामिल करनी चाहिए.

एकादशी व्रत का महत्व

एकादशी का व्रत रखने से भक्त को सभी तरह के पापों से मुक्ति मिल जाती है तथा व्यक्ति की सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं. ऐसा कहा जाता है कि एकादशी का व्रत रखने से व्यक्ति को मृत्यु के बाद मोक्ष की प्राप्ति होती है.

Aaj Ka Panchang, 4 July 2021 Live: चार ग्रह हैं वक्री, जानें आज का शुभ मुहूर्त, ग्रहों की चाल, राहुकाल का समय व दिशाशूल

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*