अयोध्या आने वाले श्रद्धालु बिना टेंशन कर सकेंगे मंदिरों में दर्शन, मुफ्त मिलेगी ये सुविधा

Free Locker Facility in Ayodhya: अयोध्या में रामलला का दर्शन करने वाले श्रद्धालुओं को अब सामान रखने के लिए इधर-उधर भटकना नहीं पड़ेगा. श्री राम जन्मभूमि मंदिर के पहले अमावा मंदिर में दर्शनार्थियों के लिए मुफ्त लॉकर की सुविधा उपलब्ध करने की नई शुरुआत हुई है. सामान रखने के लिए लॉकर एक ही जगह उपलब्ध होने से दर्शनार्थियों को सहूलियत होगी. 

दर्शनार्थियों को होगी सुविधा 
बता दें कि, श्री राम जन्मभूमि मंदिर में किसी भी प्रकार का सामान ले जाने की अनुमति नहीं है. इसलिए, मोबाइल से लेकर इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स हों या फिर कोई अन्य सामान इसे रखने के लिए दर्शनार्थियों को लॉकर की जरूरत पड़ती थी. अभी तक दर्शनार्थी शुल्क देकर आसपास की दुकानों में बने लॉकर का प्रयोग करते थे. जहां अक्सर अधिक शुल्क वसूली की शिकायतें आती थी. लेकिन, अब मुफ्त लॉकर मंदिर के पास ही उपलब्ध होने से दर्शनार्थियों को सुविधा होगी.

बढ़ा दी जाएगी संख्या 
मुफ्त लॉकर सुविधा का उद्घाटन मुख्य अतिथि के तौर पर बिहार के मुख्य लोकायुक्त न्यायाधीश श्याम किशोर शर्मा और अयोध्या के एसएसपी शैलेश कुमार पांडे ने किया. अमावा मंदिर की तरफ से अभी फिलहाल 200 लॉकर उपलब्ध कराए गए हैं. लेकिन, उनका दावा है कि धीरे-धीरे जैसी आवश्यकता होगी वैसे-वैसे लॉकर की संख्या बढ़ा दी जाएगी.  

निशुल्क लॉकर की सुविधा
बिहार के मुख्य लोकायुक्त न्यायाधीश श्याम किशोर शर्मा ने कहा कि अमावा मंदिर की तरफ से लॉकर का उद्घाटन किया गया है. ये निशुल्क लॉकर है, जो अयोध्या आने वाले गरीब लोग हैं उनके लिए बड़ी सहूलियत होगी. खुशी है कि इसकी शुरुआत में मुझे आने का मौका मिला.  

किए गए हैं सुरक्षा के इंतजाम 
एसएसपी अयोध्या शैलेश पाण्डेय ने कहा कि निश्चित तौर पर जो दर्शनार्थी आते हैं उनको लॉकर से काफी सुविधा होगी. सुरक्षा के भी अच्छे इंतजाम किए गए हैं. सीसीटीवी कैमरे भी लगे हुए हैं, जिससे ये देखा जा सकेगा कि कौन आ रहा है क्या कर रहा है. सुरक्षा मानकों के साथ लोगों को सुविधा मिले इस उद्देश्य से लॉकर का शुभारंभ हुआ है. निश्चित तौर पर जो लोग बाहर से दर्शन करने आ रहे हैं उनको बड़ी सुविधा होगी.  

ये भी पढ़ें:

BJP की जीत पर राकेश टिकैत का तंज, कहा- कनपटी पर बंदूक रखकर कोई भी वोट ले सकता है

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*