गोमती रिवर फ्रंट घोटाले में CBI रेड, ‘जूताकांड’ में चर्चित MLA राकेश सिंह बघेल के घर छापेमारी

CBI Raid in Gomti River Front Scam in Gorakhpurसंतकबीर नगर के मेंहदावल से भाजपा विधायक राकेश सिंह बघेल के गोरखपुर स्थित आवास पर सीबीआई की रेड से हड़कंप मचा गया है. उनके भाई के ऊपर गोमती र‍िवर फ्रंट घोटाला में सीबीआई ने छापा मारा है. सीबीआई ने देश समेत यूपी में 40 ठिकानों पर एक साथ छापेमारी की है. गोमती रिवर फ्रंट घोटाला में सीबीआई छापेमारी कर अहम सुराग जुटाने में जुटी है. सीबीआई के अधिकारी सुबह से ही दस्‍तावेजों को एकत्र करने के साथ घर के अंदर मौजूद सदस्‍यों से पूछताछ कर रहे हैं.

जूताकांड से चर्चा में आए थे बघेल

गोरखपुर के शाहपुर थाना क्षेत्र के राप्‍तीनगर गणेशपुरम् में मेंहदावल संतकबीरनगर के विधायक राकेश सिंह बघेल का आवास है. राकेश सिंह बघेल संतकबीरनगर जूताकांड से चर्चा में आए. उनके सगे भाई अखिलेश कुमार सिंह रिशु कंस्‍ट्रक्‍शन अनमोल एसोसिएट्स ज्‍वाइंट वेंचर के नाम से फर्म है. गोमती रिवर फ्रंट घोटाला में ठेकेदार अखिलेश सिंह का भी नाम चर्चा में आया है. सीबीआई की जांच में उनके ऊपर भी शिकंजा कसा है. देश के 40 ठिकानों पर सुबह 9 बजे से ही एक साथ सीबीआई की छोपमारी जारी है. साढ़े छह घंटे से भी अधिक समय से जारी सीबीआई की रेड के दौरान सीबीआई के अधिकारियों ने कई दस्‍तावेजों को अपने कब्‍जे में लिया है.

घर के सदस्यों से हो रही है पूछताछ

सूत्रों की मानें तो, जब सीबीआई ने रेड की तो विधायक राकेश सिंह बघेल भी घर में ही मौजूद थे. सीबीआई के अधिकारी घर के एक-एक कोने को खंगालने के साथ घर में मौजूद सदस्‍यों से पूछताछ कर रहे हैं. इस दौरान ठेकेदार अखिलेश कुमार सिंह अंदर हैं कि, नहीं, इसकी जानकारी अभी बाहर नहीं आ पाई है. सीबीआई के अधिकारी रिवर फ्रंट घोटाला में अहम सुराग जुटाने की कोशिश में लगे हुए हैं. माना जा रहा है कि ये कार्रवाई अभी देर शाम तक चल सकती है.

कानों कान नहीं हुई खबर

सुबह 9 बजे यूपी 32 यानी लखनऊ के नंबर की लग्‍जरी कार से सीबीआई की टीम विधायक के घर जब सुबह 9 बजे के करीब पहुंची, तो कानो-कान किसी को भी इसकी खबर नहीं हुई. गोमती रिवर फ्रंट घोटाला में पहली बार है कि, किसी सत्‍ता पक्ष के विधायक के घर पर सीबीआई की रेड पड़ी है. ऐसे में तमाम सवाल लोगों के मन में कौंध रहे हैं. हालांकि इस मामले में अ‍भी किसी भी अधिकारी का पक्ष सामने नहीं आया है.

ये भी पढ़ें.

पुष्कर सिंह धामी को मुख्यमंत्री बनाकर BJP ने साधे कई समीकरण, युवा वोटर्स पर खास नजर

 

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*