मोतिहारी में सिकरहना नदी से तबाही, चार मकान पानी में ध्वस्त, पूर्णिया में स्कूल का भवन टूटा

मोतिहारी/पूर्णियाः बिहार के कई जिले इन दिनों बाढ़ की चपेट में हैं. पूर्वी चंपारण में पानी के कटाव से मकान ध्वस्त हो रहे हैं तो पूर्णिया में एक स्कूल का भवन बर्बाद हो गया. पूर्वी चंपारण के सुगौली प्रखंड के उत्तरी छपरा बहास के भवानीपुर में सिकरहना नदी में दूसरी बार कटाव शुरू है. पानी के कटाव से मंगलवार को देखते-देखते चार घर सिकरहना नदी में समा गए. इसके पहले भी कई घर पानी में समा चुके हैं. अब मकान ध्वस्त होने का वीडियो भी वायरल हो रहा है.

वहीं, कई घरों का आधा हिस्सा कट गया है. सिकरहना नदी के किनारे बसे कुछ लोग अपना घर छोड़ दूसरे जगह आशियाने की तलाश में जुट गए हैं. नदी में रुक-रुक कर हो रहे कटाव से लोगों में डर है. वहीं बिना प्रशासन और जनप्रतिनिधि की मदद से स्थानीय लोग नदी के किनारे कटाव को रोकने के लिए बांस और हरे पेड़ का डंठल नदी के किनारे लगा रहे हैं ताकि कटाव को रोका जा सके.

पूर्णिया में पानी के कटाव से स्कूल की इमारत ध्वस्त

उधर, पूर्णिया में नदी के कटाव का सिलसिला लगातार जारी है. अमौर प्रखंड क्षेत्र की डहुआबारी पंचायत के तालबारी टोला गांव का प्राथमिक विद्यालय भी कनकई नदी के कटाव की भेंट चढ़ गया है. भवन का एक हिस्सा कनकई नदी की धारा में टूट गया और पानी में डूब गया. इससे पहले बायसी की निर्माणाधीन मस्जिद भी पानी में विलीन हो चुकी थी.

कटाव की चपेट में दर्जन भर से अधिक घर

वहीं, गांव के दर्जन भर से अधिक घर कटाव की चपेट में आ गए हैं. लोग अपने आशियाने को छोड़कर दूसरी जगह पलायन को मजबूर हैं. ये हालात इस इलाके में दशकों से चला आ रहा है, जबकि अभी बरसात बाकी. आंगनबाड़ी केंद्र भी कटने के कगार पर हैं. ठोस कदम नहीं उठाए गए तो और मकान जमींदोज हो सकते हैं.

यह भी पढ़ें- 

Modi Cabinet Expansion: दिल्ली रवाना हुए JDU अध्यक्ष आरसीपी सिंह, मोदी सरकार में बन सकते हैं मंत्री

Bihar Politics: सुशील मोदी ने कसा तंज, प्रधानमंत्री ने गरीबों को दिया राज, लालू ने बनाया ‘परिवार राज’

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*