खाली पेट लौकी जूस पीने से मिलेंगे हेल्थ को बड़े फायदे

Luaki Juice Benefits: निश्चित रूप से हरी सब्जियां पोषक तत्वों और विटामिन्स का खजाना हैं. लेकिन उसके पोषक तत्वों का आखिरी फायदा निचोड़ने के लिए आपको जूस की शक्ल में उसे इस्तेमाल करना चाहिए. लौकी ऐसी ही एक हैरतअंगेज सब्जी है. उसका जूस अप्रत्याशित रूप से आपका स्वास्थ्य बदल सकता है और तीन महीने के समय में सुधार सकता है. लौकी जूस पीने के अनगिनत स्वास्थ्य फायदे हैं. उसका शरीर पर प्रभाव ठंडा होता है, ये आपके ब्लड प्रेशर को काबू में रखता है. ये भूरे बाल और झुर्रियों से छुटकारा दिलाने में मदद कर सकता है. 

लौकी का जूस घर पर कैसे बनाएं
2 मध्यम आकार की लौकी लें, छिलका उतार लें, बीज निकाल लें और काट लें. एक चम्मच जीरा, 15-20 पुदीने की पत्तियां, 2-3 चम्मच नींबू का जूस, स्वाद के बराबर नमक तैयार रखें. ब्लेंडर में लौकी, अदरक, पुदीने की पत्तियां और जीरा को पीसें. आगे, एक प्याला पानी मिलाएं और 3-4 मिनट के लिए मिश्रण करें. अब, नींबू का रस और नमक को अच्छी तरह मिलाएं. जूस को छान कर रोजाना सुबह पीएं. सुबह में सबसे पहले उसे पीने से पूरे दिन के लिए आपको सेट कर सकता है. 

दिल की सेहत को बढ़ाता है- 90 दिनों तक खाली पेट लौकी जूस पीने से आपका कोलेस्ट्रोल लेवल कम हो सकता है. इस सब्जी में ज्यादा घुलनशील डाइटरी फाइबर होता है, जो आपके ब्लड प्रेशर को काबू में भी रखेगा. 

वजन कम करने में मददगार- लौकी जूस कैलोरी और फैट्स में कम होता है, जो उसे वजन कम करने के लिए प्रभावी ड्रिंक बनाता है. उसके अलावा, ये फाइबर में अधिक होता है जो देर तक आपको संतुष्ट रखता है, इस तरह भूख लगने से आपको रोकता है. उसमें जरूरी विटामिन्स और मिनरल्स जैसे विटामिन सी, विटामिन बी, विटामिन के, विटामिन ए, आयरन, पोटैशियम और मैग्नीज भी होते हैं. 

तनाव और डिप्रेशन को करे दूर- लौकी में चोलिन की अधिक मात्रा होती है- ये एक न्यूरोट्रांसमिटर है जो दिमाग के सेल्स को उचित काम में मदद करता है, इस तरह दिमागी बीमारी को रोकता है. 

पेट की समस्या का करे इलाज- लौकी का जूस कब्ज की सहायता में मदद करता है और डायरिया का इलाज भी करता है. फाइबर तत्व और 98 फीसद पानी होने के कारण, ये आपके पाचन तंत्र को साफ करता है और मल त्याग को आसान बनाने में मदद करता है.

सोने की असरदार आदतें आपकी इम्यूनिटी को करती हैं मजबूत, जानिए कैसे

Health Tips: आयुर्वेद के इन फूड नियमों के साथ करें अपने आंत की सेहत में सुधार

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*