सावन 2021: सावन का पहला सोमवार, भगवान शिव को ऐसे करें प्रसन्न, इन बातों का रखें ध्यान

Sawan 2021 Date in India: सवान के महीने को बहुत ही पवित्र महीना माना गया है. सावन के महीने में भगवान शिव की विशेष पूजा की जाती है. सावन के महीने में पड़ने वाले सोमवार का विशेष महत्व बताया गया है. इसीलिए शिवभक्त सावन के महीने का इंतजार करते हैं.

सावन का महीना कब से शुरू हो रहा है? (Sawan 2021 Start Date)
पंचांग के अनुसार आषाढ़ मास के बाद श्रावण का महीना आता है. इसे सावन का महीना भी कहते हैं. हिंदू कैलेंडर के अनुसार श्रावण मास को पंचवां महीना बताया गया है. सावन का महीना भगवान शिव को समर्पित है. इस महीने में पूजा करने से भगवान शिव बहुत जल्दी प्रसन्न होते हैं, और अपने भक्तों को कृपा प्रदान करते हैं.

सावन का पहला सोमवार (Sawan Somwar 2021)
सावन का महीना 25 जुलाई 2021 रविवार से आरंभ हो रहा है. 26 जुलाई 2021 को सावन का पहला सोमवार पड़ रहा है. सावन मेें पहले सोमवार का विशेष महत्व बताया गया है. मान्यता है कि सावन के महीने में पड़ने वाले सोमवार में व्रत रखने से सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं. सावन के मास में सोमवार कब है, जानते हैं-

  1. सावन का पहला सोमवार: 26 जुलाई 2021
  2. सावन का दूसरा सोमवार: 2 अगस्त 2021
  3. सावन का तीसरा सोमवार: 9 अगस्त 2021
  4. सावन का चौथा सोमवार: 16 अगस्त 2021

सावन में सोमवार व्रत और शिव पूजा का महत्व
सावन के महीने में भगवान शिव की पूजा करने से विशेष पुण्य प्राप्त होता है. सावन के सोमवार में व्रत रखने से जीवन में आने वाली परेशानियों से मुक्ति मिलती है. मान्यता है कि सोमवार का व्रत रखने से सुयोग्य वर की कामना भी पूर्ण होती है, इसके साथ ही विवाह संबंधी आने वाली बाधाएं भी दूर होती हैं. सोमवार के व्रत में विधि का पूर्ण ध्यान रखना चाहिए. सावन के सोमवार का व्रत पूरी श्रद्धा और भक्तिभाव से करना चाहिए. इस दिन भगवान शिव की प्रिय चीजों का भोग लगाना चाहिए. अभिषेक करने से भगवान शिव जल्दी प्रसन्न होते हैं.

यह भी पढ़ें: 
Weekly Horoscope 05 -11 July 2021: इस राशि के लोगों के लिए अच्छा रहेगा ये हफ्ता, जानें सभी राशियों का पूर्वानुमान

Shani Dev: शनि मकर राशि में है वक्री, मिथुन, तुला, धनु, मकर और कुंभ राशि वाले भूलकर भी न करें ये काम

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*