हावड़ा में जहरीली गैस रिसाव से तीन की मौत, एक अस्पताल में भर्ती

कोलकाता: पश्चिम बंगाल में निर्माणाधीन मकान के सेप्टिक टैंक की खुदाई के दौरान जहरीली गैस रिसाव होने से तीन मजदूरों की मौत हो गई. जबकि एक अन्य मजदूर गंभीर रूप से अस्वस्थ हो गया. घटना हावड़ा के अमता के अंतर्गत झमटिया ग्राम पंचायत धर्मपोता गांव का है. पुलिस सूत्रों के अनुसार सभी मजदुर बीरभूम के रहने वाले हैं.

स्थानीय लोगों से मिली जानकारी के अनुसार, मजदूर धर्मपोता गांव में एक निर्माणाधीन मकान पर काम कर रहे थे. वे एक सेप्टिक टैंक की खुदाई का काम कर रहे थे. तभी जहरीली गैस का रिसाव शुरू हो गया, जिसकी चपेट में आने से एक मजदूर गंभीर रूप से अस्वस्थ हो गया और उसका दम घुटने लगा.

बचाओ कार्य में जुटे एक अधिकारी ने बताया, ‘हमें बताया गया है कि नए सेप्टिक टैंक के नीचे वे लोग काम कर रहे थे. वे लकड़ी तोड़ने के लिए नीचे गए थे, लेकिन उन्हें वहां मौजूद जहरीली गैस की जानकारी नहीं थी. अन्य दो को वापस न लौटा देख तीसरा व्यक्ति वहां गया. इस तरह तीनों की मौत हो गई.’

अस्वस्थ मजदूर को अस्पताल में कराया भर्ती

अधिकारी ने बताया, ‘एक व्यक्ति घायल हो गया है. वह अभी अस्पताल में है और हम उसकी जांच करने जा रहे हैं. हमें यकीन है कि मौत जहरीली गैस से हुई है और कोई कारण नहीं हो सकता. जांच के बाद पता चला है कि उस जगह पर अभी भी कुछ गैस बाकी है. जो मजदूर अस्वस्थ हो गया, उसे अमरागरी विविधर ग्रामीण अस्पताल ले जाया गया. वहां पर उसका इलाज किया जा रहा है.’

यह भी पढ़ें: पेट्रोल, डीजल और गैस की बढ़ती कीमतों के खिलाफ TMC का हल्ला बोल, 10 और 11 जुलाई को पूरे बंगाल में करेगी प्रदर्शन

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*