रवि पुष्य योग: 11 जुलाई को बन रहा है महायोग, इस दिन खरीद सकते हैं भूमि, भवन, वाहन और आभूषण

Pushya Nakshatra 2021:  पंचांग के अनुसार 11 जुलाई 2021, रविवार को आषाढ़ मास की शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि है. इस तिथि से आषाढ़ मास का शुक्ल पक्ष आरंभ होगा. इस दिन पुष्य नक्षत्र रहेगा. रविवार के दिन पुष्य नक्षत्र होने के कारण इसे रवि पुष्य योग कहा जाता है, जो अत्यंत शुभ योगों में से एक माना गया है.

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार रवि पुष्य योग को एक श्रेष्ठ योग माना गया है. इस योग में जमीन, मकान, दुकान, वाहन, आभूषण आदि खरीदने के लिए शुभ माना गया है. इसके साथ ही यदि कोई नया शुभ कार्य आरंभ करना चाहते हैं तो उसके लिए भी रवि पुष्य नक्षत्र को पुण्य प्रदान करने वाला माना गया है. इसीलिए इस योग का लोग इंतजार भी करते हैं. यह योग समृद्धि प्रदान करने वाला माना गया है. 

साल का पहला रवि पुष्य योग (Ravi Pushya Nakshatra)
11 जुलाई 2021 को साल का पहला और आखिरी रवि पुष्य योग बन रहा है. इसलिए भी इसे विशेष माना जा रहा है. 07 जुलाई 2021 को बुध का मिथुन राशि में गोचर हो चुका है. बुध को मिथुन राशि का स्वामी माना जाता है. इसके बाद रवि पुष्य का योग का निर्माण होना एक अच्छा संकेत माना जा रहा है. जो धन और करियर के लिए शुभ है. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार 27 नक्षत्रों में पुष्य नक्षत्र को आठवां नक्षत्र माना गया है. ये नक्षत्र जब गुरुवार और रविवार के दिन होता है तो महायोग बनाता है.

रवि पुष्य योग शुभ मुहूर्त (Ravi Pushya Auspicious Muhurat)
पंचांग के अनुसार 11 जुलाई, रविवार को पुष्य नक्षत्र सूर्योदय के साथ आरंभ होगा और रात्रि में लगभग 02 बजकर 20 मिनट तक रहेगा. इसकी अवधि लगभग 9 घंटे तक की रहेगी. 

इन कार्यों के लिए शुभ रहेगा
रवि पुष्य योग को शुभ मांगलिक कार्याें के साथ इन चीजों की खरीदारी के लिए अच्छा माना जाता है-

  • आभूषण 
  • इलेक्ट्रॉनिक आइटम 
  • वाहन
  • भूमि, 
  • भवन
  • फर्नीचर

यह भी पढ़ें:
Sawan Somwar Vrat 2021: सावन का पहला और आखिरी सोमवार कब है? यहां देखें सावान के सोमवार की पूरी लिस्ट

Budh Transit July 2021: मिथुन राशि में बुध का राशि परिवर्तन, कन्या राशि वालों की खुल सकती है किस्मत

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*