दिलीप कुमार ने लता मंगेशकर के लिए लड़ा था कोर्ट में केस

Dilip Kumar Death: हिंदी सिनेमा के दिग्गज कलाकार दिलीप कुमार (Dilip Kumar) आज इस दुनिया को अलविदा कह गए. उनके निधन पर उनके फैन्स दोस्त और परिवार के सदस्य सोशल मीडिया पोस्ट शेयर कर उन्हें याद कर रहे हैं. इसी बीच लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) ने दिलीप कुमार (Dilip Kumar Death) को याद करते हुए दुख जताया और कहा कि मेरी तबीयत ठीक है, लेकिन मेरा दिमाग ठीक नहीं है. दिलीप कुमार की खबर सुनकर बहुत हैरानी होती है, लेकिन क्या करें ये दुनिया है ही ऐसी. इसके साथ ही उन्होंने दिलीप कुमार (Dilip Kumar News) से जुड़ी कुछ यादें भी शेयर की हैं.

 

लता मंगेशकर ने एक इंटरव्यू के दौरान बताया था कि, ‘दिलीप कुमार के साथ मेरी सबसे दिलचस्प याद यह है कि मैंने उनके साथ एक गाना गाया था. उन्होंने अच्छा गाया था, लेकिन जब वह पहली बार माइक पर गा रहे थे तो थोड़ा नर्वस थे. मुझे उन्हें उस दिन देखकर अच्छा लगा, वह कितना अच्छा गा रहा थे. मुझे बस इतना याद है कि इसे महबूब स्टूडियो में रिकॉर्ड किया जा रहा था और फिल्म के निर्देशक हृषिकेश मुखर्जी थे. फिल्म मुसाफिर थी और गाना था लागी नहीं छोटे राम, चाहे जिया जाए.’

 

लता मंगेशकर ने आगे बताया था कि, ‘ये बहुत पुरानी बात है. शायद ये साल 1963-1964 की बात होगी. एक निर्माता था जिसने हमारे खिलाफ केस किया था. इसमें मेरा, युसूफ भाई और एक अन्य व्यक्ति का नाम था. उन्होंने केस किया था कि वो हमसे काला धन लेते हैं. इस बात को जानकर यूसुफ भाई को बहुत बुरा लगा. वह कहने लगे यह आदमी मेरे लिए ऐसा बोल रहा है. उनके असिस्टेंट ने कहा कि हम कोर्ट जाएंगे और केस लड़ेंगे. फिर कहने लगे कि हां, जरूर मैं यह केस लड़ूंगा. असिस्टेंट कहने लगा कि केस लड़ने वाला वकील है साहब, आप वहां क्या करेंगे? वे कहने लगे कि मैं वकील बनकर केस लड़ूंगा. असिस्टेंट सहायक से उन्होंने कहा कि वो एक महीने का समय कोर्ट से मांगे. मैंने कहा कि युसूफ भाई प्रोड्यूसर ने भी मेरे खिलाफ केस दर्ज कराया है.’

 

लता मंगेशकर ने आगे बताया, ‘ वो मुझसे पूछने लगे कि तुम्हारे खिलाफ कितने पैसे का केस किया गया है. फिर कहने लगे मैं सबका केस लड़ूंगा. उन्होंने कानून की सारी किताबें पढ़ीं और समय आने पर वो कोर्ट में खड़े हो गए. हम केस जीत गए और प्रोड्यूसर हार गए. केस जीतने के बाद जब मेरे पास उनका फोन आया. फिर उसके बाद कहने लगे, ‘तुम मस्त रहो मेरी बहन. हमनें केस जीत लिया है.’

Vinod Khanna ने इस वजह कह दिया था फिल्म इंडस्ट्री को अलविदा, ऐसी थी उनकी लाइफ

Urvashi Rautela ने अपने एक फोटोशूट में पहना 28 लाख का लहंगा, 1 करोड़ की ज्वेलरी से सजी थीं एक्ट्रेस

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*