शत्रुघ्न सिन्हा बोले- दिलीप कुमार जैसा कोई नहीं, वो भारत रत्न के काबिल थे

ट्रेजडी किंग दिलीप कुमार (Dilip Kumar) का 98 साल की उम्र में बुधवार को निधन हो गया.  दिलीप कुमार के निधन पर पीए मोदी से लेकर अमिताभ बच्चन, धर्मेंद्र और दुनिया भर के दिग्गजों ने शोक जताते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी है. दिलीप कुमार ऐसे शख्सियत थे कि एक बार उनसे कोई मिल लेता तो वो उनका मुरीद हो जाता था. दुनिया भर में उनके चाहने वाले थे. दिलीप कुमार पर्दे पर न सिर्फ अपनी डायलॉग डिलिवरी के लिए मशहूर थे बल्कि उन्हें निजी जिंदगी में भी बेबाकी के लिए पहचाना जाता था. फिल्म जगत के सभी स्टारों के साथ उनके ताल्लुकात बेहतर थे. हर कोई उनके मुरीद थे. क्रांति फिल्म में दिलीप कुमार के साथ काम करने वाले शत्रुघ्न सिन्हा उनके निधन से बेहद गमगीन है और शोक में डूबे हुए हैं. उन्हें इस बात की भी हैरानी हो रही है कि दिलीप कुमार को भारत रत्न क्यों नहीं मिला. 

सिर्फ ट्रेजडी किंग के रूप में बांधना गलत 
शत्रुघ्न सिन्हा का कहना है कि दिलीप कुमार भारतीय सिनेमा के आखिरी मोगल थे. उन्होंने कहा कि हमने 1988 में राज कपूर को खोया और 2011 में देव आनंद को. इनके जाने का घाव अभी भरा नहीं था. ये तीनों एक्टर महान पर्सनैलिटी थे. लोग तो बहुत आते-जाते रहेंगे लेकिन दुर्लभ में दुर्लभतम दिलीप कुमार जैसा कोई नहीं होगा.

शत्रुघ्न सिन्हा का मानना है कि दिलीप कुमार को सिर्फ ट्रेजडी किंग के दायरे में बांधना गलत है. वे समय के जादूगर थे. जब हम उनकी टाइमिंग की बात करते हैं तो इसका मतलब है कि दिलीप कुमार कॉमेडी में भी उतना ही जादूगर थे जितना ट्रेजडी किंग के रूप में. इसके सिर्फ दो उदाहण आजाद और गंगा जमुना से पता चल जाएगा कि वे कितने महान कॉमेडियन थे. 
  
भारत रत्न के काबिल थे दिलीप कुमार 
सिन्हा दिलीप कुमार के भारत रत्न नहीं मिलने पर दुखी जाहिर करते हैं. उन्होंने कहा, मैं ऐसे किसी से भी तुलना नहीं करना चाहते हैं जिन्हें भारत रत्न मिला है. लेकिन मैं इतना कहना चाहूंगा कि दिलीप कुमार भारत रत्न के एकदम काबिल थे.

गौरतलब है कि दिलीप कुमार को पाकिस्तान का सबसे बड़ा नागरिक सम्मान निशान-ए-पाकिस्तान मिला हुआ है. इसके अलावा अपने देश में 1991 में पद्म भूषण और 2015 में दूसरा सबसे बड़ा नागरिक सम्मान पद्म विभूषण से दिलीप कुमार सम्मानित हैं. 

ये भी पढ़ें-

Cabinet Meeting: आज शाम 5 बजे होगी कैबिनेट की मीटिंग, सात बजे बुलाई गई मंत्रिपरिषद की बैठक

हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह का निधन, IGMC शिमला में थे भर्ती

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*