लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदते वक्त इन टिप्स को करें फॉलो, होगा ये फायदा

Life Insurance Policy Tips: लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी (Life Insurance Policy) खरीदना एक अहम फैसला होता है. यह फैसला आपके और आपके परिवार के भविष्य के लिए महत्व रखता है. इसलिए इंश्योरेंस पॉलिसी का चुनाव बहुत सोच-समझकर करना चाहिए. आपको पता होना चाहिए कि आप कितना प्रीमियम दे सकते हैं. लेकिन प्रीमियम कम रखने के चक्कर में पॉलिसी कवर के फायदों से समझौता नहीं करना चाहिए.

अगर कुछ बातों का ध्यान रखा जाए तो प्रीमियम को कम किया जा सकता है. पॉलिसी खरीदते वक्त अगर कुछ बातों का ध्यान रखा जाए तो प्रीमियम कम किया जा सकता है. आज इन्हीं बातों के बारे में हम आपको बताएंगे.

कम उम्र में ही खरीदें इंश्योरेंस
कम उम्र में लाइफ इंश्योरेंस खरीदना बेहतर रहता है. कम उम्र में पॉलिसी खरीदने पर कम प्रीमियम में ही लाइफ इंश्योरेंस के सभी फायदे मिलते हैं. जानकारों की मानें तो इसके लिए 28-30 की उम्र सबसे सही है.

सही पॉलिसी खरीदें
पॉलिसी का चुनाव बहुत सोच समझ करना चाहिए. आप किसी अच्छे जानकार से इस बारे में राय भी ले सकते हैं. लाइफ इंश्‍योरेंस की अवधि भी बहुत अहमियत रखती है. यह न तो बहुत कम होनी चाहिए और न बहुत ज्यादा. अवधि यदि कम हुई तो हो सकता है कि आपकी वित्तीय जिम्‍मेदारियों के पूरा होने से पहले ही पॉलिसी खत्‍म हो जाए. वहीं अवधि के ज्‍यादा लंबे होने पर प्रीमियम का बोझ बढ़ेगा.

पॉलिसी में तुलना करें
पॉलिसी खरीदें तो पहले कई पॉलिसी के बीच अच्छी तरह तुलना करें. विभिन्न पॉलिसियों का प्रीमियम, क्लेम सेटलमेंट रेश्यो, कुल कवर राशि और मिलने वाली सुविधाओं के बीच तुलना करनी चाहिए. आप इस काम के लिए ऑनलाइन वेबसाइट्स की भी मदद ले सकते हैं.

टर्म प्लान
टर्म प्लान लेना एक फायदे का सौदा है. इसके जरिए कम प्रीमियम में आपको बड़ा कवरेज मिल जाता है. टर्म प्लान लेते वक्‍त भी सावधानी बरतनी चाहिए. टर्म प्लान में गंभीर बीमारी के इलाज और दूसरे राइडर को शामिल कर सकते हैं, जिससे जरूरत पड़ने पर इसका फायदा ले सकें. जानकारों का कहना है कि 35 साल के व्यक्ति को अपनी सालाना आय का 10 से 15 गुना का कवर लेना चाहिए. ध्यान रखें कि टर्म इंश्योरेंस के मैच्योर होने पर कोई पैसा नहीं मिलता है. अगर पैसा वापस चाहिए तो ऐसे टर्म प्‍लान काफी महंगे होते हैं.

राइडर सोच समझ कर ही लें
राइडर बिना किसी कारण के नहीं खरीदने चाहिए. राइडर से मतलब पॉलिसी के साथ अन्‍य सुविधाएं लेने से हैं. कंपनियां सस्ते राइडरों का ऑफर देकर ग्राहकों को लुभाने की कोशिश करती हैं लेकिन जरूरत के मुताबिक ही इन्हें खरदीना चाहिए. राइडर आपके प्रीमियम का बोझ बढ़ाते हैं.

यह भी पढ़ें:

Life Insurance Policy Types: खरीदने से पहले जान लें, 8 तरह की होती हैं पॉलिसी, अपनी जरूरत के हिसाब से करें चुनाव

आपने अगर खरीद ली है ऐसी पॉलिसी जो आपके लिए नहीं है सही तो न हों परेशान, ऐसे कराएं बंद

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*