मसूरी के कैम्पटी फॉल में पर्यटकों की भारी भीड़, कोरोना संक्रमण का बढ़ा खतरा 

Tourists Crowd in Mussoorie Kempty Fall: उत्तराखंड सरकार की तरफ से कोरोना संक्रमण के मामले कम होने पर कोरोना कर्फ्यू में ढील दी गई है. वहीं, पर्यटकों को आरटीपीसीआर और एंटीजन टेस्ट रिपोर्ट लाकर ही प्रदेश में प्रवेश देने के निर्देश दिए गए हैं. पर्यटन व्यवसाय प्रभावित ना हो इसको लेकर सभी पर्यटक स्थलों के साथ बाजारों को शर्तों के साथ खोलने की अनुमति दी गई हैं. लेकिन, नियमों में ढिलाई के बाद पर्यटक स्थलों पर भारी भीड़ देखी जा रही है. 

पुलिस नहीं कर रही है कार्रवाई
मसूरी के कैम्पटी फॉल में कोरोना नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए भारी संख्या में लोग फॉल में नहा रहे हैं. स्थानीय प्रशासन और पुलिस किसी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं कर रही है. ऐसे में सवाल ये उठता है कि पुलिस की तरफ से इतनी भारी संख्या में लोगों को  कैम्पटी फॉल में कैसे जाने दिया जा रहा है. वहीं, जिला प्रशासन भी पूरी तरीह से मौन धारण किए हुए है. ऐसा लगता है कि कोरोना संक्रमण बढ़ने के बाद ही जिला प्रशासन और पुलिस हरकत में आएगी.

कोरोना नियमों की उड़ाई जा रही हैं धज्जियां
विशेषज्ञ की मानें तो कोरोना की तीसरी लहर डेल्टा वेरिएंट के रूप में आने की उम्मीद है. ऐसे में सरकार की तरफ से डेल्टा वेरिएंट से निपटने के लिए तैयारी की जा रही है. परंतु, जिस तरीके से पर्यटक स्थलों में लोगों की भारी भीड़ और कोविड के नियमों की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं उससे तो साफ है कि आने वाले समय में लोगों को भारी नुकसान का सामना करना होगा. अगर समय रहते सरकार और प्रशासन ने ठोस कार्रवाई नहीं की तो गंभीर नतीजे भुगतान होंगे. 

कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ गया है
मसूरी और उससे सटे कैम्पटी फॉल पर इन दिनों बड़ी तादाद में पर्यटक मॉनसून का लुत्फ उठाने के लिए पहुंच रहे हैं. पर्यटकों के आने से जहां व्यापारियों के चेहरे खिले हैं वहीं, फॉल में नहाने के दौरान पर्यटक सोशल डिस्टेंसिंग की जमकर धज्जियां उड़ा रहे हैं. इससे एक बार फिर कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ गया है.

ये भी पढ़ें:

अब यूपी में डेल्टा प्लस की दस्तक, गोरखपुर और देवरिया में मिला एक-एक मरीज

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*