कल्याण सिंह की मौत की खबर अफवाह, पोते ने कहा- बाबूजी अभी स्वस्थ्य हैं

Kalyan Singh Health: उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और राजस्थान के पूर्व राज्यपाल कल्याण सिंह के स्वास्थ्य में निरंतर सुधार हो रहा है. स्वास्थ्य संबंधी कारणों से उन्हें लखनऊ के संजय गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान (एसजीपीजीआई) में भर्ती कराया गया है. उनके परिवार ने लोगों से अफवाहों पर ध्यान न देने की अपील की है.

कल्याण सिंह के पोते संदीप सिंह ने कहा कि ”आप सभी से अनुरोध है कि अफवाहो पर ध्यान न दें, आदरणीय बाबूजी कल्याण सिंह जी अभी स्वस्थ्य हैं और जल्द अस्पताल से घर आएंगे, आप सभी का प्यार, स्नेह और आशीर्वाद बाबूजी के साथ है. जय श्री राम..”

बता दें कि कल्याण सिंह के स्वास्थ्य के बारे में सोशल मीडिया पर फैली अफवाहों के मद्देनजर संजय गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान (एसजीपीजीआई) ने शुक्रवार सुबह उनके स्वास्थ्य के बारे में बुलेटिन जारी किया जो आम तौर पर शाम में जारी किया जाता है. बुलेटिन में कहा गया कि आईसीयू में भर्ती कल्याण सिंह की हालत बेहतर है. संस्थान ने बताया, ”हृदयरोग, तंत्रिकारोग, गुर्दारोग विशेषज्ञ समेत वरिष्ठ चिकित्सकों की टीम उनके उपचार में जुटी है.” एसजीपीजीआई के निदेशक प्रो आर के धीमन स्वयं उनके इलाज पर बारीकी से नजर रख रहे हैं.

चार जुलाई को उन्हें एसजीपीजीआई में भर्ती कराया गया

गौरतलब है कि बीजेपी के वरिष्ठ नेता कल्याण सिंह पिछले 21 जून को अनियंत्रित रक्त शर्करा और रक्तचाप आदि की शिकायत के बाद डॉक्टर राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान, लखनऊ में भर्ती हुए थे. संस्थान के अनुसार तीन जुलाई की रात रक्तचाप अत्यधिक बढ़ने के कारण कल्‍याण सिंह को हल्का दिल का दौरा पड़ा, जिसके कारण उन्हें आईसीयू में भर्ती किया गया था. इसके बाद चार जुलाई को उन्हें एसजीपीजीआई में भर्ती कराया गया.

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा ने एसजीपीजीआई में भर्ती कल्याण सिंह से गुरुवार शाम मुलाकात कर उनका कुशलक्षेम पूछा. इस दौरान उनके साथ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी थे.

यह भी पढ़ें-

पूर्व सीएम कल्याण सिंह के स्वास्थ्य को लेकर पीएम मोदी चिंतित, पोते संदीप सिंह से जाना हाल

उत्तराखंड में कांवड़ यात्रा से हटी रोक, सीएम धामी ने योगी से बातचीत के बाद लिया फैसला

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*