समीक्षा बैठक में सख्त हुए कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज, अफसरों को दिया अल्टीमेटम

Uttarakhand Minister in Review meeting: पीडब्ल्यूडी विभाग की पहली समीक्षा बैठक में विभाग के मंत्री सतपाल महाराज काफी सख्त नजर आये. मंत्री ने सभी अधिकारियों को दो टूक कह दिया कि, अब बजट समय पर खर्च होना चाहिए और यदि समय पर बजट खर्च नहीं हुआ तो संबंधित अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई भी होगी. आपको यह भी बता दें कि, पुष्कर सिंह धामी के मुख्यमंत्री बनने के बाद पीडब्ल्यूडी विभाग सतपाल महाराज को दिया गया है. इसके बाद उन्होंने आज पहली समीक्षा बैठक की.

एक्शन में महाराज
 
पुष्कर कैबिनेट के मंत्री अब एक्शन मोड में नजर आ रहे हैं. अभी तक मुख्यमंत्री के पास रहने वाले कई अहम विभाग अब मंत्रियों को दिए गए हैं. पीडब्ल्यूडी, आबकारी, ऊर्जा ,ग्राम्य  विकास, स्वास्थ्य समेत कई ऐसे ही विभाग हैं जो अहम माने जाते हैं, अभी तक यह विभाग अधिकतर  मुख्यमंत्री के पास ही रहे हैं. लेकिन पुष्कर सिंह धामी ने अपनी कैबिनेट में यह विभाग अलग-अलग मंत्रियों को दिए हैं. विभागों की जिम्मेदारी मिलने के बाद सभी मंत्री एक्शन मोड में नजर आ रहे हैं. बड़ी-बड़ी घोषणाएं की जा रही हैं, तो वहीं सतपाल महाराज ने भी पीडब्ल्यूडी मिनिस्टर बनने के बाद अपने विभाग की पहली समीक्षा बैठक की.

बैठक के दौरान सतपाल महाराज ने सभी अधिकारियों को दो टूक कह दिया कि, प्रदेश में सड़कों की स्थिति को सुधारा जाए, उन्होंने साफ कहा कि, प्रदेश में अधिकांश सड़कें चिंताजनक स्थिति में हैं, कई सड़कें तो ऐसी हैं जहां पर सड़कों से ज्यादा गढ्ढे नजर आते हैं. ऐसे में प्रदेश की सभी सड़कों को सुधारने का काम अधिकारियों के जिम्मे में है. उन्होंने साफ हिदायत दी कि, प्रदेश की सड़कों की स्थिति जल्द से जल्द सुधारी जाए और इसके लिए अधिकारी की जिम्मेदारी भी तय की जाए.

गुणवत्ता पर रहे विशेष ध्यान 

बैठक में महाराज ने सड़कों की गुणवत्ता पर विशेष फोकस रखने की बात कही. उन्होंने कहा कि, कई स्थानों पर यह संज्ञान में आया है कि, सड़कों की गुणवत्ता ठीक ना होने से वक्त से ही पहले सड़के खराब हो जाती हैं, ऐसे में अधिकारियों को गुणवत्ता पर भी विशेष ध्यान देना होगा. महाराज ने सख्त लहजे में अधिकारियों को कहा कि, सड़कों की गुणवत्ता में किसी भी तरह की चूक नहीं होनी चाहिए. इसके साथ ही महाराज ने अलग-अलग जिलों के लिए रिंग रोड के प्रस्ताव को भी आगे बढ़ाने की बात कही. उन्होंने कहा कि, कई जिलों में रिंग रोड के प्रस्ताव आए हैं जिनको अध्ययन कर आगे बढ़ाया जाना चाहिए इससे लोगों को जाम से निजात मिलेगी.

ये भी पढ़ें.

तबादला नीति के खिलाफ डॉक्टर्स का आंशिक कार्य बहिष्कार का ऐलान, मरीज परेशान

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*