यूपी के भदोही में क्षेत्र पंचायत सदस्य को जान से मारने की धमकी, एफआईआर दर्ज

भदोही: यूपी के भदोही से क्षेत्र पंचायत सदस्य को जान से मारने की धमकी देने का मामला सामने आया है. बीडीसी द्वारा पुलिस में मामला दर्ज कराए जाने के बाद बीजेपी प्रत्याशी ने भी अपनी तरफ से शिकायत दर्ज कराई है. हालांकि भदोही पुलिस ने दोनों पक्षों की तरफ से एफआईआर दर्ज कर जल्द ही आरोपियों की गिरफ्तारी की बात कही है. लेकिन ऐसा दिखाई नही देता क्योंकि 24 घंटे बीत जाने के बाद भी सभी आरोपी फरार हैं. 

ज्ञात हो कि भदोही ब्लॉक से भाजपा ने अपना अधिकृत प्रत्याशी मैदान में उतारा, तो वहीं भाजपा से बागी हुए पूर्व प्रमुख प्रशांत सिंह उर्फ चिट्टू सिंह ने भी BDC पत्नी प्रियंका सिंह को निर्दलिय चुनाव के रण में उतार दिया और शुक्रवार को नाटकीय रूप से अधिकृत भाजपा प्रत्याशी के नाम वापसी पर निर्दलिय प्रत्याशी निर्विरोध निर्वाचित हो गए. 

क्या है पूरा मामला
मामला चौरी थाना क्षेत्र का है जहां ममहर गांव में नामांकन बीत जाने के बाद देर रात क्षेत्र पंचायत सदस्य के घर दर्जनों की संख्या में हथियारबंद लोग पहुंचे. पता चला कि भाजपा प्रत्याशी सुनीता मिश्रा के खेमे के साथ-साथ भाजपा से बागी प्रत्याशी के पति प्रशांत सिंह उर्फ चिट्टू भी पहुंचे थे. दोनों पक्षों ने वोटर को बोला कि अपना वोट हमें देना और इसी बात पर वहां मारपीट और धमकी देने का सिलसिला शुरू हो गया. 

मामला बढ़ने पर गांव के लोग इकट्ठे हुए. हालांकि भाजपा प्रत्याशी सुनीता मिश्रा के देवर योगेश कुमार मिश्र उर्फ सोनू ने पुलिस को लिखित तहरीर देकर मामला पंजीकृत कराया तो वहीं BDC पिंटू गुप्ता द्वारा भी संबंधित मामला दर्ज कराया गया है. 

हालांकि पूरा मामला सत्ता, पावर और पोजीशन का है क्योंकि पिछली बार बड़ी उठापटक के बाद प्रशांत सिंह भाजपा की तरफ से भदोही ब्लाक प्रमुख बने थे. इस बार टिकट न मिलने के कारण बागी तेवर दिखाते हुए वे निर्दलीय मैदान में उतरे हैं. शुक्रवार को नाटकीय रूप से भाजपा प्रत्याशी सुनीता मिश्रा ने अपना नामांकन पर्चा वापस ले लिया और चिट्टू सिंह निर्विरोध निर्वाचित हो गए और आने वाले 10 तारीख को आधिकारिक घोषणा भी हो जायेगी. 

यह भी पढ़ेंः कोरोना की दूसरी लहर के बाद अब जीका वायरस ने बढ़ाई मुसीबत, केरल में 14 नए केस के बाद अलर्ट, केन्द्रीय दल रवाना

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*