विवाहिता पर जबरन बनाया गया धर्म परिवर्तन का दबाव, पीड़िता ने लगाई न्याय की गुहार 

Religious Conversion in Shamli: उत्तर प्रदेश के शामली जिले में सदर कोतवाली क्षेत्र से धर्मांतरण का मामला सामने आया है. जहां एक साल पहले हिन्दू रीति रिवाज से हुई शादी के मात्र तीन-चार महीने के बाद पीड़िता को आरोपी पक्ष के लोग सताने लगे और उस पर जबरन धर्मांतरण करने का दबाव बनाया गया. पीड़िता बहाने से अपने घर लौट आई और पुलिस में शिकायत की थी जिसका अब तक कोई निस्तारण नहीं हुआ है. पुलिस मामले को घरेलू हिंसा मानते हुए जांच पड़ताल कर रही है और धर्मांतरण के मामले में जांच कर कानूनी कार्रवाई करने की बात कह रही है. 

धर्म परिवर्तन का बनाया गया दबाव 
शामली जिले की सदर कोतवाली क्षेत्र के सिटी के बड़ी माता के पास रह रही एक महिला की शादी करीब एक साल पहले गाजियाबाद के रहने वाले सुदीप के साथ हुई थी. पीड़ित महिला के परिवार वालों ने शादी हिंदू रीति रिवाज के तहत की थी. वहीं, कुछ महीनों बाद ही पीड़ित महिला पर आरोपी ससुराल पक्ष के लोग हिंदू से ईसाई धर्म अपनाने का दबाव बनाने लगे. 
 
थाने में दी तहरीर 
पीड़ित महिला पर दिन प्रतिदिन धर्मांतरण को लेकर जुर्म और ज्यादतियां बढ़ती गई. जिसके बाद पीड़ित महिला ससुराल पक्ष के लोगों को चकमा देकर घर से फरार होने में कामयाब रही और वो मायके लौट आई. पीड़ित महिला ने अपने परिवार वालों को सारी बात बताई. महिला ने थाने में तहरीर दी. तहरीर देने के बाद पुलिस ने अब तक कोई कानूनी कार्रवाई नहीं की है. पीड़ित महिला ने रविवार को एडिशनल एसपी से मुलाकात की और कानूनी कार्रवाई की मांग की. 

न्याय की लगाई गुहार 
पीड़ित महिला का कहना है कि हिंदू रीति रिवाज के साथ उसकी शादी सुदीप निवासी गाजियाबाद के साथ हुई थी. शादी के कुछ महीने बाद ही ससुराल पक्ष के लोगों ने ईसाई बनाने की बात कही. पीड़िता ने बताया कि जब उसने विरोध किया तो  उसका उत्पीड़न शुरू कर दिया गया. थाने में शिकायत की लेकिन अब तक कोई कानूनी कार्रवाई नहीं हुई है. पीड़िता ने न्याय की गुहार लगाई है.  

की जाएगी कानूनी कार्रवाई
पुलिस अधिकारी ने बताया कि मामला सदर कोतवाली क्षेत्र के सिटी का है. पहले पारिवारिक विवाद होने के बात सामने आई थी. जिसमें पीड़ित और आरोपी पक्ष के लोगों को बुलाकर कंप्रोमाइज कराने का प्रयास किया था. धर्मांतरण का मामला प्रकाश में आया है उस पर आरोपियों और पीड़ितों को बुलाकर जांच पड़ताल की जाएगी. आगे की कानूनी कार्रवाई की जाएगी. 

ये भी पढ़ें:

लखनऊ के काकोरी से अलकायदा के दो आतंकी गिरफ्तार, मंडियाव से भी एक संदिग्ध हिरासत में, सीरियल ब्लास्ट की थी साजिश

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*