बागपत में नेपाल की महिला का गला काटकर हत्या का प्रयास, शोर मचाने पर आरोपी युवक फरार

बागपत: बागपत जनपद में यूपी-हरियाणा बॉर्डर पर टांडा गांव के पास उस समय सनसनी फैल गई, जब एक घायल नेपाल की महिला ने चिल्ला-चिल्लाकर ग्रामीणों से मदद की गुहार लगाई. लोगों ने घायल अवस्था में महिला को थाने पहुंचाया तो पुलिस ने अस्पताल में भर्ती कराकर युवती का उपचार कराया. महिला का कहना है कि, वह राजकीय इंटर कालेज चकरोता, देहरादून में क्लर्क है और गाड़ी चलाना सीखते समय उसकी दोस्ती बागपत के आर्यन नाम के युवक से हो गई थी. वह उसे अपने गांव घुमाने के बहाने टांडा गांव के पास लेकर आया और चाकू से उसका गला काटकर हत्या करने का प्रयास किया, लेकिन आरोपी का प्लान फेल हो गया और वह घायलावस्था में छोड़कर फरार हो गया. 

इंटर कॉलेज में क्लर्क में है महिला

नेपाल के सुमैया की रहने वाली पायल जायसवाल राजकीय इंटर कालेज नागमार चकरोता, देहरादून में क्लर्क है. आर्यन नाम का युवक देहरादून में गाड़ी चलाना सिखाता है. उसने भी आर्यन से गाड़ी चलाना सीखा था और उसी दौरान उसकी आर्यन से दोस्ती हो गई थी. 10 जुलाई की रात नौ बजे आर्यन उसे अपने घर घुमाने के बहाने से बागपत के छपरौली थाना क्षेत्र के टांडा गांव के पास ले आया. यहां यूपी-हरियाणा का बॉर्डर भी है. आर्यन ने उसे बाइक से तालाब के पास उतार दिया और उसके बाल पकड़कर चाकू से उसका गला काट दिया. इसी दौरान वह उसकी मंशा भांपकर उसके साथ भिड़ गई और शोर मचा दिया. वहां आसपास काम कर रहे लोगों को आता देखकर आर्यन बाइक लेकर फरार हो गया. गांव के लोग उसे छपरौली थाने में ले गए. उसने पुलिस को पूरी घटना की जानकारी दी.

पुलिस ने दर्ज किया केस

पुलिस ने पायल का सीएचसी छपरौली पर उपचार कराया, जहां से उसे जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया. वहां से भी उसे हायर सेंटर के लिए रेफर कर दिया. बहरहाल, पायल की हालत खतरे से बाहर बताई जाती है. इंस्पेक्टर छपरौली प्रदीप शर्मा ने बताया कि, पायल के पति राजेश मोहन जयसवाल निवासी राजपुर रोड देहरादून, हाल निवासी जीआइसी इंटर कालेज नागवार चकरोता, देहरादून की मौत हो चुकी है. पायल की दोस्ती आर्यन नाम के युवक से हो गई थी और वह उसे अपने घर घुमाने के लिए लेकर आया था. पायल की तहरीर पर आर्यन के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी है. उधर, पुलिस रात से ही इस पूरी घटना को छुपाती रही. पुलिस सूत्रों का कहना है कि पुलिस ने मुकदमा दर्ज करने और उपचार के लिए उसे देहरादून ही भेज दिया है. 

ये भी पढ़ें.

UP: जनसंख्या नियंत्रण नीति का विरोध करने वालों पर बरसे केशव प्रसाद मौर्य, कही बड़ी बात

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*