जानिए- बिहार, हरियाणा सहित किन राज्यों में कब से खुल रहे हैं स्कूल-कॉलेज

कोविड -19 महामारी की शुरुआत के साथ देश भर के स्कूल, कॉलेज और अन्य शैक्षणिक संस्थान लंबे समय से बंद हैं. हालांकि कुछ राज्यों ने पिछले वर्ष कुछ समय के लिए एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स को फिर से खोलने की मंजूरी दे दी थी लेकिन इस साल कोरोना महामारी की दूसरी लहर के घातक परिणाम को देखते हुए स्कूल-कॉलेज और अन्य शिक्षण संस्थान फिर से बंद कर दिए गए. अब जब कोरोना संक्रमण के मामलों में हर दिन गिरावट दर्ज की जा रही है तो स्कूल- कॉलेज और अन्य शिक्षण संस्थान कब खुलेंगे यह सवाल हर छात्र के मन में है.

बहरहाल राज्य अब एजुकेशन इंस्टीट्यूट्स में टीचिंग और लर्निग एक्टिविटिज को फिर से शुरू करने पर विचार कर रहे हैं. आइए देखते हैं लिस्ट में कि किन-किन राज्यों में स्कूल फिर से खोले जाने की तैयारी हो रही है.

बिहार

बिहार सरकार के आदेशानुसार 12 जुलाई 2021 यानी आज से राज्य के शैक्षणिक संस्थान खुल गए हैं. इस दौरान राज्य के 11वीं और 12वीं के स्कूल, सभी डिग्री कॉलेज, सभी सरकारी और प्राइवेट यूनिवर्सिटी और टेक्निकल इंस्टीट्यूट कुछ छात्र संख्या की 50 फीसदी उपस्थिति के साथ खोले गए हैं. गौरतलब है कि सरकार ने सभी स्कूलों और कॉलेजों को कोरोना गाइडलाइन का पालन करने की सख्त हिदायत दी है. इसके साथ ही संस्थान के गेट पर थर्मल स्क्रीनिंग की खास व्यवस्था करने के निर्देश भी दिए गए हैं. बता दें कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी हाल ही में ट्विटर पर स्कूलों और कॉलेजों को फिर से खोलने के संबंध में जानकारी की घोषणा की थी.  उन्होंने कहा था, “विश्वविद्यालय, सभी कॉलेज, तकनीकी शिक्षण संस्थान, सरकारी प्रशिक्षण संस्थान, कक्षा 11वीं और 12वीं तक के स्कूल 50% उपस्थिति के साथ खुलेंगे. शैक्षणिक संस्थानों के वयस्क छात्रों और छात्राओं, शिक्षकों और कर्मचारियों के टीकाकरण के लिए विशेष व्यवस्था की जाएगी.

महाराष्ट्र

महाराष्ट्र सरकार ने उन क्षेत्रों में स्कूलों को फिर से खोलने का फैसला किया है जहां पिछले महीने में कोई कोरोना संक्रमण का पॉजिटिव मामला सामने नहीं आया है. स्कूलों को कक्षा 8 से 12 के छात्रों के लिए 15 जुलाई से ऑफलाइन कक्षाएं फिर से शुरू करने की अनुमति दी गई है. स्कूल शुरू होने से पहले संबंधित स्कूलों में सभी टीचर्स और नॉन टीचिंग स्टाफ  का कोरोना वैक्सीनेशन प्राथमिकता के आधार पर किया जाएगा.

हरियाणा

हरियाणा सरकार ने 9 जुलाई को घोषणा की थी कि स्कूल 16 जुलाई से कक्षा 9 से 12 तक सोशल डिस्टेंसिंग के साथ फिर से खुलेंगे. अगर स्थिति सामान्य रही तो अन्य कक्षाओं के लिए स्कूल फिर से खोल दिए जाएंगे. जबकि कक्षा 6 से 8 के लिए स्कूल 23 जुलाई से फिर से खुलेंगे. हालांकि, ऑनलाइन कक्षाएं जारी रहेंगी और जो छात्र इसे लेना जारी रखना चाहते हैं, उन्हें ऐसा करने की अनुमति दी जाएगी.इसके साथ ही छात्रों को उनके माता-पिता से लिखित अनुमति प्राप्त करने के बाद ही स्कूल आने की इजाजत दी जाएगी. फिलहाल राज्य में कक्षा 1 से 5 तक के स्कूल बंद रहेंगे और उन्हें फिर से खोलने के संबंध में कोई फैसला बाद में लिया जाएगा.

पंजाब

पंजाब के स्कूलों ने जनवरी में कक्षा 5 से 8 के लिए ऑफलाइन क्लासेस शुरू कर दी थी. हालांकि काफी संख्या में छात्र कोविड-19 महामारी की वजह से ऑफलाइन कक्षाओं में शामिल नहीं हुए जिसके बाद स्कूलों को ऑफ़लाइन के साथ-साथ ऑनलाइन कक्षाओं का संचालन करना पड़ा था. मई में पंजाब राज्य के शिक्षा मंत्री विजय इंदर सिंगला ने 24 मई से 23 जून तक राज्य के सभी शैक्षणिक संस्थानों के लिए गर्मी की छुट्टियों की घोषणा कर दी थी.  जून में  मंत्री ने घोषणा की कि मेडिकल स्ट्रीम के लिए शारीरिक ऑफ़लाइन कक्षाएं 28 जून से शुरू होंगी.

गुजरात

गुजरात में  कक्षा 12 के छात्रों के लिए स्कूल और अंडर ग्रेजुएट व पोस्ट ग्रेजुएट स्टूडेंट्स के लिए कॉलेज 15 जुलाई से फिर से खुल रहे हैं. एएनआई एजेंसी ने गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपानी के हवाले से कहा है कि, “हालांकि, स्कूल में आने के इच्छुक छात्रों के लिए ऑनलाइन स्टडी का ऑप्शन भी जारी रहेगा और अटेंडेस को अनिवार्य नहीं किया जाएगा.”

उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रशासनिक कार्य जारी रखने के लिए शिक्षकों और कर्मचारियों के लिए प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालयों को फिर से खोल दिए हैं. वहीं, छात्रों को अभी भी अगले आदेश तक स्कूल आने की अनुमति नहीं है. फिलहाल राज्य में ऑनलाइन क्लासेस ही जारी हैं.

पुडुचेरी

महामारी की दूसरी लहर धीमी होने और कोरोनावायरस के मामलों में गिरावट के साथ  पुडुचेरी ने 16 जुलाई यानी इस शुक्रवार से कक्षा 9 से 12 के छात्रों के लिए सभी सरकारी और निजी स्कूलों को फिर से खोलने का फैसला किया है. ये  घोषणा करते हुए, मुख्यमंत्री एन रंगास्वामी ने कहा कि केंद्र शासित प्रदेश के सभी कॉलेज भी 16 जुलाई से फिर से खुलेंगे

आंध्र प्रदेश

राज्य अगस्त में 50% उपस्थिति के साथ शैक्षणिक संस्थानों को फिर से खोलने पर विचार कर रहा है. इस संबंध में एपी शिक्षा मंत्री आदिमुलपु सुरेश ने कहा “हम कक्षाएं कैसे शुरू करते हैं यह कोविड -19 की तीसरी लहर पर निर्भर करता है. अगर हमें लगता है कि यह छात्रों के लिए सुरक्षित नहीं है, तो हम अलग-अलग समय और वैकल्पिक दिनों में 50 प्रतिशत उपस्थिति पर विचार कर सकते हैं. लेकिन ये अभी भी चर्चा में हैं. अंतिम कॉल बाद में ली जाएगी. ” वहीं खबर ये भी है कि सरकार दो बैचों में कक्षाएं आयोजित करने पर विचार कर रही है.

ओडिशा

ओडिशा सरकार ने 21 जून को कक्षा 1 से 10 तक के छात्रों के लिए YouTube पर ऑनलाइन कक्षाओं की लाइव स्ट्रीमिंग शुरू की है. एक आधिकारिक अधिसूचना में कहा गया है कि कक्षा 9 और कक्षा 10 के लिए ऑनलाइन कक्षाएं 31 जुलाई तक जारी रहेंगी, जबकि कक्षा 1-8 तक के लिए कक्षाएं 7 जुलाई तक जारी रहेंगी. स्कूल और जन शिक्षा मंत्री समीर रंजन दास ने कहा कि राज्य में शारीरिक कक्षाएं फिर से शुरू करने के बारे में कोई निर्णय नहीं लिया गया है.

दिल्ली- राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में अभी ऑफलाइन क्लासेस शुरू करने पर कोई फैसला नहीं लिया गया है. कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए यहा छात्रो के लिए ऑनलाइन क्लासेस ही जारी रखने का फैसला लिया गया है.

कर्नाटक

राज्य में 19 जुलाई से कॉलेजों को दोबारा खोले जाने पर विचार किया जा रहा है. सरकारी और मान्यता प्राप्त कॉलेजों में 64 फीसदी छात्रों और 85 फीसदी स्टाफ की उपस्थिति के साथ कॉलेज खोले जाने क  तैयारी की जा रही है.

ये भी पढ़ें

IAS Success Story: यूपीएससी के लिए बैंक की नौकरी छोड़ी, 2 साल तक बच्चे से दूर रहकर अनु कुमारी ने हासिल की सफलता

MPPSC Assistant Manager Recruitment 2021: मध्य प्रदेश में असिस्टेंट मैनेजर के कई पदों पर निकली भर्तियां, यहां जानें डिटेल

Education Loan Information:
Calculate Education Loan EMI

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*