यूपी को दहलाने की साजिश नाकाम, लखनऊ से गिरफ्तार आतंकियों से बड़ा खुलासा

Terrorists arrests in Lucknow: लखनऊ से गिरफ़्तार अल क़ायदा के आतंकियों के मामले में नये-नये ख़ुलासे हो रहे हैं. सूत्रों के मुताबिक़ शुरुआती जांच के दौरान पता चला है कि बम बनाने में माचिस की तीलियों के बारूद का इस्तेमाल किया गया था. गिरफ़्तार दोनों आतंकियों का अक्सर कानपुर आना-जाना रहता था. दोनों ने कानपुर से हाल ही में एक मोबाइल खरीदा था और नई सड़क इलाके में रहने वाले अपने साथी के साथ मीटिंग भी की थी.

उस मीटिंग के बाद कानपुर वाले इनके साथी ने कानपुर में ही कई लोगों से मिनहाज और मुशीर की मीटिंग कराई थी. नेटवर्क में और लोगों को जोड़ने के मक़सद से ये मीटिंग कराई गई थी. लखनऊ के काकोरी से दो आतंकियों की गिरफ़्तारी के बाद एटीएस ने कानपुर से 4 और संभल से 2 संदिग्धों को हिरासत में लिया है. एटीएस इस मामले में कई ज़िलों में छापेमारी कर रही है.

अल क़ायदा के संदिग्ध आतंकियों की गिरफ़्तारी के बाद यूपी के अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने दावा किया है कि यूपी पुलिस के पास दोनों आतंकियों के ख़िलाफ़ पर्याप्त सबूत हैं.

मानव बम के जरिए धमाके की साजिश थी

बता दें कि लखनऊ में पकड़े गए आतंकियों की मानव बम के जरिए धमाके की साजिश थी. आतंकी 15 अगस्त के आसपास धमाका करने की फिराक में थे. दोनों आतंकी सीरियल ब्लास्ट करना चाहते थे. आतंकी के नाम मिनहाज अहमद और मसीरूद्दीन है. अलकयदा का ये मानव बम मॉड्यूल था. दोनों आतंकी अंसार गजवातुल हिंद ग्रुप से जुड़े थे.

ये भी पढ़ें.

बागपत में नेपाल की महिला का गला काटकर हत्या का प्रयास, शोर मचाने पर आरोपी युवक फरार

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*