UP: फतेहपुर में आसमानी बिजली गिरने से 3 महिलाओं समेत 7 की मौत, 5 झुलसे

Fatehpur Sky Lighting: उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जिले में आकाशीय बिजली की चपेट में आने से अलग-अलग थाना क्षेत्रों में 7 लोगों की मौत हो गई और 5 लोग झुलस गए. घायलों को नजदीक के अस्पताल में भर्ती कराया गया है. वहीं, 11 मवेशियों की भी मौत हुई है. पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. बिजली की चपेट में आने से जिले में 7 लोगों की मौत के बाद हड़कंप मचा हुआ है. राजस्व कर्मियों की टीम आपदा में हुए नुकसान का आकलन कर रही है.  

मृतकों में से 3 महिलाएं शामिल 
जिले में 7 मौतों के बाद मृतकों के घर में कोहराम मच गया है. डीएम अपूर्वा दुबे ने जानकारी देते हुए बताया कि बिंदकी तहसील में 2 लोगों की मौत हुई है तो वहीं सदर तहसील में 3 लोगों की मौत हुई. मृतकों में से 3 महिलाएं भी शामिल हैं. मृतकों को 4- 4 लाख रुपए का मुआवजा दिया जाएगा और झुलसे हुए लोगों को 2 -2 लाख रुपए का मुआवजा दिया जाएगा. 

दो तहसीलों में मचा कोहराम 
बता दें कि, बिंदकी तहसील क्षेत्र के बकेवर थाना क्षेत्र के आलमपुर गांव में रहने वाली शिवकली पेड़ में बंधी भैंस को खोलने गई थी तभी अचानक बारिश होने लगी. जिसके बाद वो पेड़ के नीचे खड़ी हो गई. तभी आकाशीय बिजली गिरने से वृद्धा की मौत हो गई. वहीं, चांदपुर थाना क्षेत्र के भीखनीपुर गांव की रहने वाली 55 वर्षीय कौशल्या देवी जंगल में मवेशी चराने गई थी तभी अचानक आकाशीय बिजली गिर गई और महिला की मौत हो गई. असोथर थाना क्षेत्र के सरकंडी गांव निवासी 35 वर्षीय मथुरा निषाद और कोंडर गांव निवासी 50 वर्षीय सोनिया विश्वकर्मा जंगल गए थे तभी अचानक बिजली गिर गई और मौके पर ही दोनों की मौत हो गई.

गाजीपुर थाना क्षेत्र के लाक्षीरामपुर निवासी 26 वर्षीय सुनील साहू बिजली गिरने से झुलस गया. जबकि, कल्याणपुर थाना क्षेत्र के पुरानी कटरी निवासी 17 वर्षीय नानकु, 40 वर्षीय गुजरिया बिजली गिरने से झुलस गए. असोथर थाना क्षेत्र की 50 वर्षीय सोनिया की मौत हो गई. वहीं, गाजीपुर थाना क्षेत्र के बरूहा गांव निवासी 36 वर्षीय दिव्यांग दिनेश पाल निवासी भोलापुर गांव की मौत हो गई. 

जल्द मुहैया कराई जाएगी आर्थिक मदद
मामले में डीएम अपूर्वा दुबे ने बताया की आकाशीय बिजली गिरने से दो तहसीलों में सात लोगों की मौत हुई है. जिसमे सदर तहसील में पांच लोगों की और बिंदकी तहसील में दो लोगों की मौत हुई है. एसडीएम और तहसीलदार ने मौके पर पहुंचकर नुकसान का आकलन किया गया है. आर्थिक सहायता जल्द ही मुहैया कराई जाएगी. 

ये भी पढ़ें:

लखनऊ से गिरफ्तार आतंकियों से बड़ा खुलासा, बम बनाने में माचिस की तीलियों के बारूद का किया था इस्तेमाल

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*