तीन जेएमबी के संदिग्ध आतंकियों को 14 दिनों की पुलिस हिरासत में भेजा

कोलकाता: कोलकाता से गिरफ्तार किए गए तीनों जेएमबी के संदिग्ध आतंवादियो को सोमवार को बैंकशाल कोर्ट में पेश किया गया. जिसके बाद उन्हें अदालत ने 14 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया है. लोक अभियोजक ने अदालत को बताया कि पुलिस ने गिरफ्तार आतंवादियो के घर से एक हस्तलिखित डायरी, कई जिहादी दस्तावेज, मोबाइल फोन और कई महत्वपूर्ण दस्तावेज बरामद किए हैं.

हस्तलिखित डायरी में बहुत सारे जेएमबी आतंकवादियों के नाम और फोन नंबरों का उल्लेख किया गया था. इनमें से ज्यादातर बांग्लादेश से हैं. लोक अभियोजक ने अदालत को यह भी बताया कि उनके घर से एक पत्रक बरामद किया गया था, जहां बंगाली में लिखा गया था- “बांग्लार मयदेर रन्ना घोरे तोरी होक बोमा” जिसका अर्थ है, बंगाली माताओं की रसोई में बम बनाया जाना चाहिए.

11 जुलाई को लिया था हिरासत में

बता दें कि कोलकाता पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने जमात-उल-मुजाहिद्दीन बांग्लादेश (जेएमबी) के तीन संदिग्ध आतंकवादी को 11 जुलाई को हिरासत में लिया था. नजीउर रहमान पावेल उर्फ जोसेफ, रबीउल इस्लाम और मेकैल खान उर्फ शेख सब्बीर एक घर में शरण लिए हुए थे. फर्जी दस्तावेजों से घर को किराये पर लिया था. बांग्लादेशी नागरिक फर्जी दस्तावेजों के जरिए किराये पर कमरा लेने के बाद पिछले कुछ महीनों से ठाकुरपुकुर थाना क्षेत्र के हरिदेवपुर इलाके में रह रहे थे.

सूत्रों के मुताबिक हिरासत में लिए गए तीनों का संबंध जेएमबी के शीर्ष नेता नाहिद तसनीम से है, जो काशीमपुर जेल से कारोबार कर रहा है. उसने एक नया स्लीपर सेल बनाने का आदेश दिया था, जिसके अनुसार गिरफ्तार समूह अवैध रूप से भारत में प्रवेश कर गया था. यह भी पता चला है कि उन्हें जेएमबी डकैती विंग के प्रमुख अल अमीन द्वारा वित्त पोषित किया गया था. हिरासत में लिए गए दो लोग फेरीवाले बनकर मच्छरदानी और फल बेचते थे.

नाहिद तसनीम को 2010 में जेएमबी समन्वयक बनाया गया था, जिसके चार साल बाद उन्हें पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था. उन्होंने हरकत-उल-जिहाद अल-इस्लामी (हुजी) के नेता अल अमीन के नेतृत्व में धन इकट्ठा करने के लिए एक डकैती विंग की स्थापना की थी. तसनीम और अमीन दोनों अभी काशीमपुर जेल में हैं, जहां से वे कारोबार करते हैं.

यह भी पढ़ें: 14 दिनों की पुलिस रिमांड में भेजे गए लखनऊ से गिरफ्तार अलकायदा के दोनों संदिग्ध आतंकी

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*