रियलिटी चेक में सामने आई बड़ी बात, जानें- लखनऊ के चारबाग रेलवे स्टेशन का हाल

abp ganga reality check in lucknow: उत्तर प्रदेश की रादधानी लखनऊ में अलकायदा के दो आतंकियों के पकड़े जाने के बाद पूरे देश में हड़कंप है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ खुद मामले की अपडेट ले सुरक्षा व्यवस्था के लिए जरूरी निर्देश दे रहे हैं. लेकिन, इन हालातों में भी लखनऊ के चारबाग रेलवे स्टेशन की सुरक्षा व्यवस्था भगवान भरोसे है. एबीपी गंगा की टीम ने जब रेलवे स्टेशन का मुआयना किया तो तमाम सिक्योरिटी लैप्स मिले.

सामने आई सुरक्षा में खामी
स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर 1 पर लगा बैग स्कैनर पिछले करीब एक महीने से खराब है. रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि इसके सॉफ्टवेयर में समस्या आने से ये बंद पड़ा है. सही कराने के लिए कंपनी से बात चल रही है. वहीं, गेट पर दो मेटल डिटेक्टर लगे थे लेकिन सिर्फ नाम के लि. इनमें एक मेटल डिटेक्टर बंद पड़ा था. जिबकी दूसरा मेटल डिटेक्टर चालू तो था लेकिन उसे बीच में लगाने की जगह किनारे रखा हुआ था. दोनों डिटेक्टर के बीच में लगा गेट खुला था जहां से लोग बिना किसी चेकिंग या पूछताछ के आराम से आ और जा रहे थे. स्टेशन पर एक अधिकारी ने बताया कि जून के अंतिम सप्ताह में जब राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद प्रेसिडेंशियल ट्रेन से लखनऊ आए थे तो VVIP मूवमेंट के चलते मेटल डिटेक्टर किनारे कर गेट खोल दिया गया था. तब से ये ऐसे ही है. स्टेशन के गेट पर सुरक्षाकर्मी तैनात तो थे लेकिन कौन आ-जा रहा है, क्या ला या ले जा रहा है इससे कोई मतलब नहीं.
 
इंटेलिजेंस को और मजबूत करने के निर्देश
राजधानी लखनऊ में दो आतंकियों के पकड़े जाने के बाद सुरक्षा व्यवस्था समेत अन्य मुद्दों पर सीएम योगी ने अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी से विस्तार से चर्चा की. अवनीश अवस्थी ने बताया की सीएम योगी ने गृह विभाग, एटीएस, एसटीएफ, इंटेलिजेंस को और मजबूत करने के निर्देश दिए हैं. इसके लिए सभी जरूरी आधुनिक इक्विपमेंट्स, मैन पावर और रिसोर्सेज दिए जा रहे हैं. अपर मुख्य सचिव गृह ने बताया कि एटीएस अब इन दोनों आतंकियों से रिमांड पर पूछताछ करेगी. 

विदेशी हैंडलर से जुड़े थे आतंकी 
अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने बताया कि जो दो आतंकी पकड़े गए थे ये तय है कि वो विदेशी हैंडलर से जुड़े थे. उनकी चैट्स और व्हाट्सएप से चीजें सामने आ रही हैं. इनके नेटवर्क के और लोग पकड़े जाएंगे. एटीएस 24 घंटे काम कर रही है. अब तक कि सूचनाओं के आधार पर लगातार जगह-जगह छापेमारी की जा रही है. सेंट्रल एजेंसीज से भी लगातार संपर्क में हैं. 

बड़ा प्रदेश है तो अधिक सतर्क रहना है
अवनीश अवस्थी ने कहा कि ये बड़ा प्रदेश है तो अधिक सतर्क रहना है. गहराई से देखना होगा. धार्मिक स्थलों की सुरक्षा पर हर तीन महीने पर बैठक करते हैं. वहां की सुरक्षा के लिए नए इक्विपमेंट, मैन पावर के निर्देश पहले ही दिए जा चुके हैं. इन दोनों आतंकियों से इंटेरोगेशन में और चीजें निकालकर आएंगी. इनके नेटवर्क का पता चलेगा. जो भी नेटवर्क होगा उसके खिलाफ कठोर कार्रवाई होगी. 

ये भी पढ़ें:

लखनऊ से गिरफ्तार आतंकियों से बड़ा खुलासा, बम बनाने में माचिस की तीलियों के बारूद का किया था इस्तेमाल

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*