मनसुख हिरेन हत्या केस में NIA ने एक बड़े व्यापारी का दर्ज किया बयान

मुंबई: महाराष्ट्र में हुए मनसुख हिरेन हत्या मामले में राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) ने मुंबई उपनगर के एक बड़े व्यापारी का बयान दर्ज किया है. व्यापारी पूर्व एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा का बेहद करीबी माना जाता है.

दरअसल, एनआईए (NIA) को जांच में पता चला था कि मनसुख हिरेण (Mansukh Hiren) की हत्या के बाद चार आरोपी संतोष शेलार, आनंद जाधव, सतीश मोठिकुरी और मनीष सोनी नेपाल चले गए थे. एनआईए के सूत्रों के मुताबिक इन चारों के नेपाल जाने का बंदोबस्त इसी व्यापारी ने किया था.

क्राइम की नहीं थी जानकारी

व्यापारी ने अपने बयान में बताया कि शर्मा के कहने पर इसने उन सब का नेपाल जाने का प्रबंध कराया था. हालांकि इसे उनके किए क्राइम के बारे में जानकारी नहीं थी. सूत्रों की मानें तो एनआईए उस व्यापारी को इस मामले में एक गवाह भी बना सकती है.

एनआईए ने किए कई खुलासे

बता दें कि महाराष्ट्र में हुए मनसुख हत्या और एंटीलिया मामले में हाल ही में गिरफ्तार हुए आरोपियों से जुड़े कई खुलासे एनआईए कर रही है. एनआईए ने यह भी दावा किया है कि अब तक गिरफ्तार हुए 10 लोगों के अलावा और भी आरोपी इस पूरी साजिश में शामिल थे और उनकी मीटिंग कई बार हुई है.

एनआईए ने दावा किया था कि इस मामले में गिरफ्तार पूर्व एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा ने आरोपी संतोष शेलार, आनंद जाधव, सतीश और मनीष को फर्जी सिम कार्ड मुहैया कराए थे.

यह भी पढ़ें: मनसुख हिरेन हत्या के 4 आरोपी नेपाल में थे छुपे, NIA को लाखों रुपये के ट्रांजेक्शन की जानकारी मिली

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*