भाई ने किया खुलासा, देवबंद में उमर अल मंडी का किया गया था ब्रेन वाश

Deoband Connection of Umar Al Mandi: उत्तर प्रदेश एटीएस ने लखनऊ से जिन दो आतंकियों को गिरफ्तार किया है, उनका कनेक्शन अलकायदा के सक्रिय आतंकी उमर अल मंडी से निकल कर सामने आया है. जिसके बाद जांच एजेंसियों ने अल मंडी के इतिहास के बारे में खंगालना शुरू किया तो पता चला उमर अल मंडी उत्तर प्रदेश के संभल का रहने वाला है. एबीपी गंगा से बातचीत के दौरान उमर अल मंडी उर्फ सईद अख्तर के भाई ने बताया कि, सईद अख्तर कुछ वर्ष पहले देवबंद शिक्षा प्राप्त करने के लिए गया था और वहीं, पर उसका ब्रेनवाश किया गया. जिसके बाद सईद अख्तर वापस लौट के नहीं आया. 

भाई ने कहा-देवबंद में किया गया ब्रेन वाश

एबीपी गंगा की टीम दारुल उलूम देवबंद पहुंची जो इस्लामिक शिक्षा के लिए पूरी दुनिया में मशहूर है, लेकिन बार-बार आतंकी कनेक्शनों में देवबंद के नाम आने से देवबंद के लोग भी काफी दुखी हैं. उनका तो कहना है कि, जांच एजेंसियां निष्पक्ष जांच करें, अगर कोई दोषी पाया जाता है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई हो ताकि देवबंद का नाम बार बार बदनाम न हो.

उमर अल मंडी उर्फ सईद अख्तर का देवबंद कनेक्शन सामने आने के बाद एनआईए ने अपनी जांच तेज कर दी है और उम्मीद है कि, जल्द ही एनआईए की एक टीम देवबंद पहुंचकर उमर अल मंडी के देवबंद कनेक्शन की जांच कर सकती है. क्योंकि आतंकी संगठनों व आतंकियों से देवबंद का कनेक्शन यह पहली बार नहीं आया है. इससे पहले भी कई आतंकी गिरफ्तार हुए हैं, जिनका कनेक्शन देवबंद से सामने आ चुका है. यही वजह है कि एनआईए यह जानने की कोशिश कर रही है कि आखिरकार आतंकी संगठनों से देवबंद का क्या कनेक्शन है.

NIA देवबंद जा सकती है

क्योंकि जिस तरह से सईद अख्तर उर्फ उमर अल मंडी के भाई ने एबीपी गंगा से बातचीत के दौरान सईद अख्तर के देवबंद में ब्रेन वाश करने की बात कही. उसको लेकर अब यह सवाल खड़े होते हैं कि, आखिरकार सईद अख्तर उमर हल मंडी कैसे बना, उसका ब्रेनवाश देवबंद में किसने किया? जब वह देवबंद आया तो वह किसके पास रहा, किस किस के संपर्क में आया और सईद अख्तर से आतंकी उमर अल मंडी बनने तक की कहानी क्या है? और इसी कहानी को जानने के लिए एनआईए देवबंद पहुंचकर पूछताछ कर सकती है. 

आपको बता दें, देवबंद कनेक्शन सामने आने के बाद सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, मेरठ, बुलंदशहर प्रशासन को हाई अलर्ट कर दिया गया है. बाकी एनआईए अगर अपनी जांच के लिए देवबंद जाती है तो कानून व्यवस्था चुस्त और दुरुस्त रहे.

ये भी पढ़ें.

ग्रामीण ने की लाइट लगवाने की फरियाद, बीजेपी विधायक बोले- बेटे की कसम खाओ कि हमें वोट दिया है

 

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*