Farmers protest: खापों ने जींद से दिल्ली कूचकर दी चेतावनी, 3 दिसंबर को नहीं बनी बात तो बंद होगी दूध, फल और सब्जियों की सप्लाई

कृषि संबंधी तीन नए कानूनों के खिलाफ राजधानी दिल्ली आकर सात दिनों से प्रदर्शन कर रहे किसानों के इस आंदोलन के चलते दिल्ली को जोड़ने वाले हरियाणा और उत्तर प्रदेश के कई रास्ते बंद कर दिए गए हैं. इसकी वजह से आम लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. इस बीच, 3 दिसंबर को सरकार के साथ किसान नेताओं की एक और दौर की बैठक से पहले किसानों की तरफ से दिल्ली को दूध, फल और सब्जी की आपूर्ति रोकने की धमकी दी गई है.

हरियाणा के जींद में खापों ने बुधवार को दिल्ली के लिए कूच शुरू कर दिया है. इसी कड़ी में जींद की सर्वजातीय दाड़न खाप के सैकड़ों प्रतिनिधियों और किसानों ने दिल्ली कूच किया. कूच करने से पहले खाप नेताओं ने डोर-टू-डोर जाकर लोगों को दिल्ली जाने की अपील भी की. इन खाप नेताओं ने धमकी दी है की अगर कल यानी 3 दिसंबर को सरकार से बात नहीं बनी तो गांव से दिल्ली को जाने वाले दूध,फल और सब्जियों की सप्लाई कर देंगे बंद.

किसान नेताओ का कहना है की अगर कल 3 दिसंबर को सरकार से बात नहीं बनी तो गांव से दिल्ली को जाने वाले दूध,फल और सब्जियों की सप्लाई बंद कर देंगे. अगर सरकार फिर भी नहीं मानती है तो किसानों का अगला कदम न तो देश के लिए अच्छा होगा, न सरकार के लिए अच्छा होगा. उन्होंने आगे कहा कि किसान इतना आक्रमक हो जाएगा की सरकार के लिए संभालना मुश्किल हो जायगा.

गौरतलब है कि मंगलवार को कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के साथ बातचीत बेनतीजा रही. किसानों को कमिटी पर कोई आपत्ति नहीं है, लेकिन उनका कहना है कि जब तक कमेटी कोई निष्कर्ष पर नहीं पहुंचती और कुछ ठोस बात नहीं निकलती, उनका आंदोलन जारी रहेगा. उधर सिंधु बॉर्डर से किसानों ने कहा जब तक सरकार तीनों बिल वापस नहीं लेती तब तक ये आंदोलन ऐसे ही चलता रहेगा और अगर ऐसे ही चलता रहा तो आंदोलन और बड़ा होगा.

ये भी पढ़ें: Farmers Protest Live Updates: नोएडा लिंक रोड पर दूसरी तरफ शिफ्ट हुए किसान, दिल्ली से नोएडा जाने का रास्ता खुला 

ट्रांसपोर्टर ने किया किसान आंदोलन के समर्थन का एलान, कहा- सरकार नहीं मानी, तो जरूरी चीजों की होगी किल्लत 

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*