बंगाल की खाड़ी में मित्र ब्रिटेन के साथ युद्धाभ्यास कर रहा भारत

चीन के खिलाफ मित्र-देशों के गठजोड़ के मकसद से इंग्लैंड का कैरियर स्ट्राइक ग्रुप इन दिनों बंगाल की खाड़ी में भारतीय नौसेना के साथ तीन दिवसीय (21-23 जुलाई) युद्धभ्यास कर रहा है. इस युद्धभ्यास में इंग्लैंड के सबसे बड़े एयरक्राफ्ट कैरियर सहित कुल 10 युद्धपोत, दो पनडुब्बी, 20 लड़ाकू विमान और करीब 4000 नौसैनिक हिस्सा ले रहे हैं.

भारत और इंग्लैंड की इस युद्धभ्यास को लेकर दिल्ली स्थित ब्रिटिश हाई कमिशन ने बिना चीन का नाम लिया कहा कि, “इस तरह की कोशिश (युद्धभ्यास) हमारे मित्र-देशों को ठोस सुरक्षा प्रदान करती है और वैश्विक सुरक्षा को कमजोर करने वालों को एक मजबूत अवरोध प्रदान करता है.”

भारत और इंग्लैंड की नौसेनाएं समंदर के नीचे मेरीटाइम ड्रिल में हिस्सा लेंगी

हाई कमीशन ने बयान जारी कर कहा कि, लोकतांत्रिक मूल्यों की रक्षा करने और साझा खतरों से निपटने के लिए ही कैरियर स्ट्राइक ग्रुप की हिंद-प्रशांत क्षेत्र में तैनाती की गई है. साथ ही भारत, सिंगापुर, दक्षिण कोरिया और जापान जैसे देशों के साथ इंग्लैंड का इंगेजमेंट बढ़ रहा है. इससे यूके (यूनाईटेट किंगडम) के लिए व्यापारिक अवसरों को भी खोजा जा सकता है.

जानकारी के मुताबिक, तीन दिवसीय इस मेरीटाइम एक्सरसाइज में भारत और इंग्लैंड की नौसेनाएं मल्टी-शिप, समुद्री, हवाई और सब-सर्फेस यानि समंदर के नीचे मेरीटाइम ड्रिल में हिस्सा लेंगी. इस तरह की एक्सरसाइज से दोनों देशों की नौसेनाओं के बीच बेहतर समन्वय और सहयोग बढ़ाने में मदद करती हैं. खास बात ये है कि भारतीय नौसेना का एक युद्धपोत अगले महीने इंग्लैंड के संंमदर में रॉयल नेवी के साथ युद्धभ्यास करेगा.

यूके और भारत प्रमुख रक्षा साझेदार हैं

आपको बता दें कि, इंग्लैंड का कैरियर स्ट्राइक ग्रुप पहली बार 26 हजार नॉटिकल मील की यात्रा पर निकला है. इस दौरान भूमध्य सागर से लेकर हिंद महासागर और हिंद-प्रशांत क्षेत्र की करीब 40 देशों की नौसेनाओं के साथ ये कैरियर स्ट्राइक ग्रुप युद्धभ्यास करेगा. भारतीय नौसेना के साथ तीन दिवसीय युद्धभ्यास उसी का हिस्सा है.

इंग्लैंड के चीफ ऑफ ज्वाइंट ऑपरेशन्स, वाइस एडमिरल, सर बेन की ने बयान में कहा कि, “यूके और भारत प्रमुख रक्षा साझेदार हैं और कैरियर स्ट्राइक ग्रुप की तैनाती ग्लोबल-ब्रिटेन का एक प्रतीक है जो भारत, इंडो-पैसेफिक के प्रति हमारी प्रतिबद्धता को प्रदर्शित करता है और अंतर्राष्ट्रीय व्यवस्था के लिए खतरों का सामना करता है.”

इंग्लैंड के कैरियर स्ट्राइक ग्रुप में एचएमएस क्वीन एलिजाबेथ एयरक्राफ्ट कैरियर के अलावा छह युद्धपोत, एक पनडुब्बी शामिल है. इसके अलावा इस ग्रुप में अमेरिका का एक डेस्ट्रोय़र (युद्धपोत) और नीदरलैंड का फ्रिगेट (जहाज) भी शामिल है. साथ ही इस ग्रुप के साथ फिफ्थ जेनरेशन फाइटर एयरक्राफ्ट, एफ-35बी ‘लाइटनिंग’ भी शामिल है.

यह भी पढ़ें.

प्रत्यर्पण से बचने के लिए नीरव मोदी की नई चाल- जेल, कोरोना, आत्महत्या और बीमारी का दिया हवाला

कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसान आज से जंतर-मंतर पर ‘किसान संसद’ आयोजित करेंगे

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*