अखिलेश यादव ने सीएम योगी पर साधा निशाना, बोले- उन्हें तो कुछ पता ही नहीं है

बरेली: उत्तर प्रदेश के बरेली जिले में हो रहे समाजवादी पार्टी के तीन दिवसीय मंडलीय सम्मेलन के दूसरे दिन सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव बरेली पहुंचे. यहां प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान उन्होंने प्रदेश की योगी और देश की मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा. अखिलेश यादव से जब पूछा गया की क्या वो राम मंदिर निर्माण में सहयोग करेंगे तो उन्होंने कहा की वो राम मंदिर के लिए दक्षिणा देने जाएंगे. उन्होंने कहा कि जब से बीजेपी सत्ता में आई है उसने नफरत फैलाने का काम किया है, लोगों को बांटने का काम किया और समाज में जहर घोला है.

तमाम मुद्दों पर बोले अखिलेश

वेब सीरीज तांडव पर मचे घमासान पर अखिलेश यादव ने कहा की भारतीय जनता पार्टी ने तांडव का ज्यादा प्रचार किया. मैंने भी तांडव देखी तो पता चला कुछ चीजें क्रिएट की जाती हैं. अखिलेश यादव ने कहा की बालाकोट जैसी घटना की जानकारी अगर केवल एक पत्रकार को पहले से पता होती है तो बीजेपी को बताना चाहिए कि वो चैट कौन भेज रहा था. वहीं, किसानों के मुद्दे पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी किसानों के साथ है. वहीं, सीएम योगी पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि किसानों को देश में सबसे ज्यादा उत्तर प्रदेश में महंगी बिजली मिल रही है.

बीजेपी से नहीं सपा से लड़ना चाहती हैं तमाम ताकतें

अखिलेश यादव ने कांग्रेस और ओवैसी पर निशाना साधते हुए कहा कि ये तमाम ताकतें बीजेपी से नहीं सपा से लड़ना चाहती हैं. अखिलेश यादव ने कहा की राहुल गांधी हमारे दोस्त हैं, लेकिन अब कांग्रेस का रास्ता दूसरा है. कांग्रेस बीजेपी से नहीं लड़ना सपा से लड़ना चाहती है. उन्होंने कहा की जब से इन दलों को पता चला की समाजवादी पार्टी का बरेली में मंडलीय सम्मेलन हो रहा है तो सब परेशान है.

आजम खान का साथ देंगे

आजम खान के मुद्दे पर अखिलेश यादव ने कहा की हम उनके साथ हैं और जब हमारी सरकार आएगी तो हम कोर्ट में अपने वकील खड़े करके आजम खान का साथ देंगे. अखिलेश ने कहा की क्या कांग्रेस के नेता शामिल नहीं थे आजम खान को फसाने में, क्या कांग्रेस के नेताओं ने एफआईआर दर्ज करवाने के लिए चिट्ठियां नहीं लिखवाई. हम भरोसा दिलाते है कि आजम खान पर जितने भी झूठे मुकदमे लिखे हैं न्यायालय उनकी मदद करेगा.

इन मामलों में यूपी नम्बर 1 है

सीएम योगी पर निशाना साधते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि उन्हें तो कुछ पता ही नहीं है. जो अधिकारी बता देते हैं वही जानते हैं. इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि अभी एक सर्वे हुआ है जिसमें टॉप 10 में यूपी के सीएम का नाम नहीं है. यूपी भ्रष्टाचार, बेरोजगारी, महिला अपराध, रेप में नम्बर 1 है. खराब शिक्षा के मामले में यूपी नम्बर 1 है. सबसे खराब स्वास्थ्य सेवाओं में यूपी नम्बर 1 है. मिड डे मील में सबसे ज्यादा भ्रष्टाचार यूपी में है. तबादलों और पोस्टिंग में यूपी नम्बर 1 है. घटनाओं को फर्जी बनाने में यूपी नम्बर 1 है. हंगर इंडेक्स में सबसे बेकार स्थान यूपी का है. सबसे ज्यादा साम्प्रदायिक हिंसा यूपी में हुई है. फर्जी एनकाउंटर यूपी में सबसे ज्यादा हुए हैं. शिक्षित नौजवान सबसे ज्यादा यूपी में आत्महत्याएं कर रहे हैं. कोर्ट की फटकार में भी यूपी नम्बर 1 है. आवारा जानवरों के हमले से जो मौतें हो रही हैं, उसमे भी यूपी नम्बर 1 है.

सीएम योगी पर साधा निशाना

अखिलेश यादव यहीं नही रुके उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को आड़े हाथों लेते हुए कहा की देश के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ होगा कि किसी मुख्यमंत्री ने अपने ऊपर लिखे मुकदमे वापिस लिए होंगे. विकास के विनाश में भी यूपी की बीजेपी सरकार है. स्मार्ट सिटी के नाम पर भी कोई काम नहीं हुआ है. उन्होंने कहा कि इस समय यूपी में अवैध मकानों पर बुल्डोजर चलाया जा रहा है. लेकिन, खुद मुख्यमंत्री के घर का नक्शा नहीं बना होगा. इतना ही नहीं गोरखपुर में जो मेडिकल कॉलेज बनाया जा रहा है वो तालाब की जमीन पर बनाया जा रहा है. पहले लोगों के घरों के नक्शे नहीं हुआ करते थे.

ये भी पढ़ें:

प्रयागराज में सीएमओ और नोडल अफसरों ने खुद लगवाया कोरोना टीका, दूर किया वैक्सीनेशन का भ्रम

यूपी में कोहरे और ठंड ने बढ़ाई लोगों की मुसीबत, नाकाफी साबित हो रहे हैं प्रशासनिक इंतजाम

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*