सीरियल देख रच डाली ‘किडनैपिंग’, तीन घंटे में पुलिस सुलझाया मामला

मुंबई: पुलिस ने अपहरण के एक सनसनीखेज मामले को 3 घंटे में सुलझा कर मिसाल पेश की है. मलाड में 13 साल के एक मासूम को किडनैप किया गया था. अपहरण करने वालों ने फिरौती की भी मांग थी. पुलिस का दावा है कि एक पॉपुलर टीवी क्राइम को देखकर अपराधियों ने अपहरण की साजिश रची थी.

पुलिस का कहना है कि आदर्श नगर स्थित घर के सामने से ही 13 साल के बच्चे का अपहरण किया गया था. उसे अपराधी वहां से एक ऑटो रिक्शा में लेकर गए थे. इसके बाद उन्होंने परिजनों से 10 लाख की फिरौती की मांग भी की थी. जैसे ही पुलिस को इस बारे में सूचना मिली अलग-अलग टीमें बना कर जांच शुरू कर दी गई.

टेक्निकल सर्विलांस के जरिए पुलिस थोड़ी ही देर में अपराधियों तक पहुंच गई. इसके बाद बच्चे को सकुशल बरामद कर लिया गया. पुलिस ने आरोपी को मौके पर ही पकड़ लिया. पूरी कहानी किसी फिल्म से सीन से कम नहीं थी. पुलिस के प्रयास को परिजन और लोग काफी सराह रहे हैं. अधिकारियों को भी खुशी है कि पुलिस ने बच्चे को उसके परिवार के साथ मिला दिया.

पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है. इनमें से एक की पहचान शेखर विश्वकर्मा के रूप में की गई है जबकि दूसरा शख्स दिव्यांशु है. पुलिस का कहना है कि फिरौती की कॉल आते ही परिजनों से सबसे पहले पुलिस को संपर्क किया. इसके बाद पुलिस ने बच्चे के मोबाइल को ट्रैक करना शुरू किया. उसका लोकेशन मलाड वेस्ट का आया.

दोनों आरोपियों के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज कर लिया गया है. साथ ही पुलिस यह भी जांच कर रही है कि क्या इससे पहले भी उन्होंने इस तरह की किसी घटना को अंजाम दिया है. इसके साथ ही अन्य़ अपराधों में भी आरोपियों की लिप्तता जांची जा रही है. पुलिस ने कहा कि साजिश को अंजाम देने का आईडिया अपराधियों ने टीवी देखकर आया था.

गौरतलब है कि इससे पहले भी क्राइम पर आधारित टीवी शो देखकर कई अपराधों को अंजाम दिया गया है. इससे पहले इस तरह की बहस भी होती रही है कि क्या अपराध को महिमामंडित कर के दिखाना जरूरी है ? बहरहाल यह बहस तो चल ही रही है लेकिन जानकारों का कहना है कि अपराधियों का इसतरह से साजिश रचना खतरनाक साबित हो सकता है.

यह भी पढ़ें:

बिहार: ‘लापता’ कृषि अधिकारी का शव मिला, परिवार ने जताई थी अपहरण की आशंका

इंदौर ड्रग रैकेट का ‘लिंक’ देख पुलिसवाले भी ‘चकराए’, मिला मुंबई बम ब्लास्ट कनेक्शन

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*