TMC सांसद बोले- जेपी नड्डा पर हमला बीजेपी के खिलाफ लोगों के गुस्से का नतीजा

कोलकाता: तृणमूल कांग्रेस (TMC) के सांसद अभिषेक बनर्जी ने बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा के काफिले पर हुए हमले को लोगों के गुस्से का नतीजा करार दिया और कहा कि भगवा दल मुसीबत के समय लोगों के साथ खड़ा नजर नहीं आया.

गौरतलब है कि नड्डा के काफिले पर तृणमूल कांग्रेस के कथित कार्यकर्ताओं ने आज उस समय हमला किया, जब वह बीजेपी कार्यकर्ताओं की बैठक में शामिल होने डायमंड हार्बर जा रहे थे. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी डायमंड हार्बर निर्वाचन क्षेत्र का ही प्रतिनिधित्व करते हैं.

आज नड्डा परेशानी में थे- अभिषेक बनर्जी

तृणमूल कांग्रेस की युवा इकाई के प्रमुख ने आज हुगली जिले के आरामबाग में एक रैली में कहा, ‘‘डायमंड हार्बर में आज नड्डा परेशानी में थे. मैं इसमें क्या कर सकता हूं? लोगों के गुस्से का फूटना मेरी जिम्मेदारी नहीं है. लॉकडाउन, जीएसटी और नोटबंदी में लोगों को कठिनाइयों के बावजूद बीजेपी उनके साथ खड़ी नजर नहीं आई.’’

उन्होंने आगे कहा कि तृणमूल कांग्रेस अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में राज्य में बड़े बहुमत के साथ वापसी करेगी. अभिषेक ने दावा किया कि पिछले 10 साल में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की जीवनशैली में बदलाव आ गया है, लेकिन राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की जीवनशैली में बदलाव नहीं आया है.

नड्डा के इस दावे पर कि बीजेपी पश्चिम बंगाल में आगामी विधानसभा चुनाव में 200 से अधिक सीट जीतेगी, इस पर अभिषेक ने कहा कि ऐसा नहीं हो पाएगा.

वहीं नाराज जेपी नड्डा ने हमले को ‘अभूतपूर्व’ करार दिया और आरोप लगाया कि राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति पूरी तरह चरमरा गई है और यह ‘‘गुंडा राज’’ में तब्दील हो गया है.

नड्डा पर कब हुआ हमला?

नड्डा के काफिले पर आज सुबह उस समय हमला हुआ जब वह पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठक में शामिल होने डायमंड हार्बर जा रहे थे. इस दौरान भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय सहित कई नेता घायल हो गए. बुलेट प्रूफ कार में सवार नड्डा को हालांकि कोई नुकसान नहीं पहुंचा. डायमंड हार्बर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी करते हैं.

घटनास्थल पर मौजूद लोगों ने बताया कि तृणमूल कांग्रेस के कथित कार्यकर्ताओं ने दक्षिण 24 परगना जिले में सिराकुल के पास सड़क को अवरुद्ध कर दिया. उनमें से कुछ के हाथों में लाठी-डंडे, लोहे की छड़ें और पत्थर थे. पुलिस ने जब उन्हें हटाने की कोशिश की तो वे भाजपा और मीडिया के खिलाफ नारे लगाते हुए पुलिस से झगड़ने लगे.

बंगाल में हमले के बाद कैलाश विजयवर्गीय ने सुनाई पूरी आपबीती, बताया हमले में क्या-क्या घटा

जेपी नड्डा पर हमले के बाद एक्शन में अमित शाह, गृह मंत्रालय ने राज्यपाल से मांगी रिपोर्ट

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*