Exclusive: राज्यपाल जगदीप धनखड़ बोले- ममता बनर्जी सरकारी व्यवस्था का दुरुपयोग कर रही हैं

पश्चिम बंगाल: जे पी नड्डा के काफिले पर हुए हमले के बाद राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने एबीपी से खास बातचीत की है. जिसमें उन्होंने पश्चिम बंगाल पुलिस और प्रशासन पर सीधा निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि ये घटना प्रजातांत्रिक व्यवस्था के लिए बड़ी चुनौती है.

विपक्ष को काम करने से रोका जा रहा है- जगदीपी धनखड़

मामले पर बात करते हुए उन्होंने कहा कि, “मैंने खुद सुबह डीजीपी और मुख्य सचिव को आगाह किया था. राजनीतिक गतिविधि का किसी भी राज्य में ना होना कुठाराघात है. पश्चिम बंगाल में मैं लगातार देख रहा हूं कि विपक्ष को काम करने से रोका जा रहा है. पुलिस और प्रशासन राजनैतिक वर्कर की तरह काम कर रहे हैं. राज्यपाल का काम है कि संविधान की रक्षा करना. मै सरकार को लगातार आगाह कर रहा हूं कि इसे रोका जाए.”

उन्होंने आगे कहा, “स्थिति बहुत भयावह है. राष्ट्रपति शासन लगाने को लेकर सार्वजनिक चर्चा नहीं की जा सकती. जो एक पोलिटिकल पार्टी के अध्यक्ष के साथ हुआ चिंता जनक है. ममता बनर्जी खुद संघर्ष करके उपर आई हैं. दुर्भाग्य की बात ये है कि सरकार के पास किसी भी बात का जवाब नहीं है.” उन्होंने चिंता जाहिर करते हुए कहा, “मामलों की जांच कैसे रफ-दफा कर देते हैं राज्यपाल को इसकी जानकारी नहीं दी जाती. बिना मुख्यमंत्री की शह पर डीजीपी और मुख्यसचिव किसी राज्यपाल पर टिप्पणी कर नहीं सकते. मेरे लिए चिंता का विषय है और सरकार के लिए चिंतन का विषय है.”

सरकारी व्यवस्था का दुरपयोग कर रहीं हैं ममता बनर्जी- जगदीपी धनखड़

इसके अलावा उन्होंने कहा, “कल जो मुख्यमंत्री ने वीडियो जारी किया वो बहुत बड़ा कुठाराघात है. ये पश्चिम बंगाल का चरित्र ही नहीं है. मैंने सार्वजनिक रूप से उन्हें वीडियो वापस लेने को कहा है लेकिन उनका कृत्य ठीक नहीं है. मैं मुख्यमंत्री से कहूंगा कि सरकारी व्यवस्था का इतना दुरुपयोग करना ठीक नहीं है. मुझे विश्वास है कि वो सुधार करेंगी. मेरे लिए सबसे बड़ी चुनौती है कि 2021 का चुनाव फ्री एंड फियरलेस कराना और बंगाल की जनता को आश्वस्त करना चाहता हूं कि इसे शांतिपूर्वक और सही तरीके से सम्पन्न कराया जाएगा.”

जगदीप धनखड़ आगे बोले, “सबसे बड़ी बात है कि सरकार निरुत्तर है. उनके पास जवाब नहीं है. चाहे वो पीडीएस घोटाले का मामला हो या फिर दूसरे मामले हो. बहुत सारे भ्रष्टाचार के मामले में है.”

सरकार को सुधार के मोड में आना चाहिए

अभिषेक बनर्जी पर भी निशाना साधते हुए कहा कि वो अपनी पार्टी के लिए महत्वपूर्ण है लेकिन उनकी टिप्पणी सही नहीं है. उन्हें ध्यान रखना चाहिए.

यह भी पढ़ें.

अजीबोगरीब बयान देने के लिए मशहूर शेख रशीद अहमद को इमरान खान ने बनाया पाकिस्तान का गृहमंत्री

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*