संसद हमले की बरसी राष्ट्रपति कोविंद ने कहा- संसद की रक्षा में प्राण गंवाने वाले शहीदों को कृतज्ञ राष्ट्र करता है याद

नई दिल्लीः राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने रविवार को कहा कि 2001 में आज ही के दिन हुए आतंकवादी हमले में संसद की रक्षा करते हुए प्राण गंवाने वाले शहीदों को कृतज्ञ राष्ट्र याद करता है.पाकिस्तानी आतंकवादी संगठनों के आतंकियों के हमले में आठ सुरक्षाकर्मियों समेत नौ लोगों की जान चली गई थी. सुरक्षा बलों ने सभी पांच आतंकवादियों को मार गिराया था.

राष्ट्रपति कोविंद ने ट्वीट किया, ‘‘2001 में आज ही के दिन संसद पर हुए आतंकवादी हमले में संसद की रक्षा करते हुए प्राण गंवाने वाले शहीदों को कृतज्ञ राष्ट्र याद करता है। हमारे लोकतंत्र के मंदिर के उन प्रहरियों के महान बलिदान को याद करते हुए हम आतंकी ताकतों को परास्त करने के अपने प्रण को और मजबूत करते हैं.’’

 

हमले के वक्त संसद में मौजूद थे प्रधानमंत्री और नेता विपक्ष

13 दिसंबर 2001 को जैश-ए-मोहम्मद के पांच आतंकवादियों ने लोकतंत्र के सबसे बड़े मंदिर संसद पर हमला किया था. ये पांचों आतंकी एक सफेद एंबेसडर कार में आए थे. संसद में शीतकालीन सत्र चल रहा था. उस दौरान सैकड़ों सांसदों समेत प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और विपक्ष की नेता सोनिया गांधी भी संसद में मौजूद थीं. आतंकियों की इस फायरिंग से कई जवान शहीद हुए थे और सुरक्षाबलों ने उसी दिन पांचों आतंकियों को मार गिराया था.

यह भी पढ़ें-

कोरोना अपडेट: देश में लगातार 14वें दिन 40 हजार से कम आए केस, 24 घंटे में 33 हजार ठीक हुए, 391 की मौत

IND Vs AUS: रोहित शर्मा के लिए आसान नहीं है राह, ऑस्ट्रेलिया में खेल पाना अभी तक तय नहीं

 

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*