IIT मद्रास में कोरोना विस्फोट, 66 छात्र मिले पॉजिटिव, लैब-लाइब्रेरी को किया बंद

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस का कहर जारी है. हर रोज कोरोना वायरस के नए संक्रमित मरीजों की पुष्टि हो रही है. वहीं अब आईआईटी मद्रास में कोरोना विस्फोट हुआ है. आईआईटी मद्रास में करीब 60 से ज्यादा छात्र कोरोना वायरस से पॉजिटिव पाए गए हैं. जिसके बाद कैंपस में लैब, लाइब्रेरी और कई विभागों को बंद कर दिया गया है.

आईआईटी मद्रास में पढ़ने वाले 700 से ज्यादा छात्रों में से 66 छात्रों की कोरोना वायरस रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई है. इसके बाद कैंपस में हड़कंप ही मच गया. कैंपस में छात्रों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद मेस को भी बंद कर दिया गया और छात्रों को रूम में खाना पहुंचाया जा रहा है. इसके अलावा छात्रों और फैकल्टी को वर्क फ्रॉम होम के लिए कहा गया है. वहीं छात्रों को उनके कमरों में क्वारनटीन किया गया है.

आईआईटी मद्रास ने एक बयान में कहा है कि हॉस्टल में रहने वाले लोगों का सामान्य का केवल 10 फीसदी हिस्सा था. जिनमें से कुछ की रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई, इसके बाद बाकियों का टेस्ट किया गया. हॉस्टल में अभी भी स्टूडेंट्स को पैक्ड फूड सप्लाई किया जा रहा है. आईआईटी प्रशासन का कहना है कि कोरोना वायरस के संक्रमित मरीजों को देखते हुए मेस को बंद किया गया है. इसके अलावा कैंपस को सैनिटाइज किया जा रहा है.

तमिलनाडु में कितने कोरोना केस?

बता दें कि तमिलनाडु में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं. कोरोना संक्रमित मरीजों के मामले में तमिलनाडु देश में चौथा सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य है. तमिलनाडु में अब तक कोरोना वायरस के करीब आठ लाख मरीज सामने आ चुके हैं. वहीं 11 हजार से ज्यादा लोगों की कोरोना के कारण राज्य में मौत भी हो चुकी है. इसके अलावा फिलहाल राज्य में करीब 10 हजार एक्टिव कोरोना वायरस के मरीज हैं.

यह भी पढ़ें:

कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों को हो रहा है गंभीर संक्रमण, 50% आंखों की रोशनी और मौत का खतरा

कोरोना वायरस: भारत में 85% मौत सिर्फ 11 राज्यों में, रिकवरी रेट 94.98% पर पहुंचा

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*