IND Vs AUS: कोहली ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का किया फैसला, ऑस्ट्रेलिया की बॉलिंग

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच टेस्ट सीरीज की शुरुआत डे-नाइट टेस्ट से होने जा रही है. टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया है. टीम इंडिया की प्लेइंग इलेवन है- मयंक अग्रवाल, पृथ्वी शॉ, चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली, अंजिक्य रहाणे, हनुमा विहारी, ऋद्धिमान साहा, आर. अश्विन, उमेश यादव, मोहम्मद शमी और जसप्रीत बुमराह.

टॉस से पहले पैट कमिंस ने ग्रीन को बैगी ग्रीन कैप दी है. टिन पेन और जस्टिन लैंगर ने पहले ही ग्रीन के डेब्यू के संकेत दिए थे. सवाल सिर्फ ग्रीन के कनकशन को लेकर था. लेकिन अब वह पूरी तरह से फिट हैं और वह आज अपना पहला टेस्ट मैच खेलेंगे.

डे-नाइट टेस्ट प्रारूप में ऑस्ट्रेलिया सबसे अनुभवी

डे-नाइट टेस्ट प्रारूप में ऑस्ट्रेलिया सबसे अनुभवी टीम है. ऑस्ट्रेलिया ने डे-नाइट प्रारूप में सात टेस्ट मैच खेले हैं, जिसमें से चार एडिलेड ओवल में ही खेले हैं. वहीं भारत ने अभी तक डे-नाइट प्रारूप में सिर्फ एक टेस्ट मैच खेला है. भारत ने यह मैच पिछले साल ईडन गार्डन्स में बांग्लादेश के खिलाफ खेला था. भारत का यह पहला डे-नाइट टेस्ट ऑस्ट्रेलिया के पहले टेस्ट मैच के चार साल बाद आया था. भारत को हालांकि इस बात से प्ररेणा मिलेगी की ऑस्ट्रेलिया में एडिलेड में उसने कुछ दमदार प्रदर्शन किए हैं, खासकर हालिया समय में.

2018-19 के पिछले दौरे पर भी भारत ने एडिलेड में जीत हासिल की थी. भारत ने दूसरा अभ्यास मैच सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (एससीजी) पर गुलाबी गेंद से ही खेला था. इस तीन दिवसीय अभ्यास मैच में हालांकि भारत के कई टेस्ट विशेषज्ञ- कोहली, चेतेश्वर पुजारा, रविचंद्रन अश्विन, रिद्धिमान साहा और उमेश यादव नहीं थे. इन सभी को एडिलेड टेस्ट के लिए भारत की अंतिम-11 में जगह मिली है.

ऑस्ट्रेलिया ने एडिलेड ओवल की सेंटर विकेट पर लाइट्स में अभ्यास किया है और ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन ने कहा है कि इससे उनकी टीम को फायदा होगा. पेन ने कहा, “हम भाग्यशाली थे कि कुछ दिन पहले एडिलेड आ गए और हमने तीन दिन तक लगातार रात में सेंटर विकेट पर ट्रेनिंग की है जो मुझे लगता है कि हमारी टीम के लिए काफी फायदेमेंद साबित होगी. “

भारत ने पृथ्वी शॉ को चुना 

भारत ने अपनी प्लेइंग-11 का ऐलान कर दिया है. मयंक अग्रवाल के साथ कौन पारी की शुरुआत करेगा इसे लेकर संशया था और टीम प्रबंधन ने इसके लिए पृथ्वी शॉ को चुना है. शॉ हालांकि दोनों अभ्यास मैचों में विफल रहे थे और चार पारियों में सिर्फ 62 रन ही बना पाए थे. वह इस साल की शुरुआत में न्यूजीलैंड में भी रन नहीं कर पाए थे और सिर्फ एक अर्धशतक जमाया था. विकेटकीपर को लेकर भी बहस थी और यहां रिद्धिमान साहा का अनुभव युवा ऋषभ पंत पर भारी पड़ा है.

वहीं दूसरी तरफ ऑस्ट्रेलिया के लिए सबसे बड़ी समस्या सलामी जोड़ी है. डेविड वॉर्नर के चोटिल होने के बाद टीम विल पुकोवस्की का विकल्प टीम के पास था, लेकिन यह युवा खिलाड़ी कनकशन के कारण पहले टेस्ट से बाहर हो गया है. टीम संभवत: मार्कस हैरिस और मैथ्यू वेड की नई सलामी जोड़ी को आजमा सकती है. काफी कुछ नंबर-3 मार्नस लाबुशैन और स्टीव स्मिथ पर निर्भर करेगा. टीम की गेंदबाजी हालांकि शीर्ष स्तर की है. हरफनमौला खिलाड़ी कैमरून ग्रीन का खेलना तय है और उनके आने से नियमति गेंदबाजों को बैकअप मिलेगा साथ ही मध्य क्रम भी मजबूत होगा. मैच भारतीय समयानुसार सुबह साढ़े नौ बजे शुरू होगा.

ये भी पढ़ें-

विराट कोहली को रोकने के लिए ऑस्ट्रेलिया ने बनाई खास रणनीति, कप्तान पेन ने किया खुलासा

IND Vs AUS: विराट कोहली के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया ने की पूरी तैयारी, बनाया गया है खास प्लान

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*