मुंबई: मेट्रो कारशेड को शिफ्ट करने की तैयारी में महाराष्ट्र सरकार, फडणवीस बोले- यह फैसला राज्य को डुबो देगा

मुंबई: मुंबई मेट्रो 3 के कार शेड को बीकेसी यानी बांद्रा कुर्ला कंपलेक्स जहां पर बुलेट ट्रेन के स्टेशन के लिए जगह प्रस्तावित है. महाराष्ट्र सरकार अब कारशेड को उस जगह पर शिफ्ट करने की तैयारी में है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक बॉम्बे हाई कोर्ट के कांजुरमार्ग कार शेड को लेकर आए फैसले के बाद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने गुरुवार को अधिकारी और कुछ मंत्रियों के साथ अपने सरकारी निवास वर्षा पर इस संदर्भ में बैठक की जिसमें बीकेसी में मौजूद जमीन पर इस प्रोजेक्ट को शिफ्ट करने पर चर्चा की जाने की खबर है.

केंद्र बनाम राज्य सरकार ?

महाराष्ट्र सरकार ने अगर वाकई में मेट्रो 3 कार शेड के लिए बीकेसी याने बांद्रा कुर्ला कंपलेक्स की बुलेट ट्रेन के स्टेशन की जगह को अगर फाइनलाइज किया तो फिर एक बार केंद्र सरकार बनाम महाराष्ट्र सरकार यह नया विवाद छिड़ने के पूरे आसार है. गौरतलब है कि आरे कॉलोनी में प्रस्तावित मेट्रो कार शेड को सीएम उद्धव ठाकरे ने रद्द करने के बाद इस प्रोजेक्ट को कांजुरमार्ग शिफ्ट करने का फैसला सरकार ने लिया था लेकिन केंद्र सरकार ने महाराष्ट्र सरकार के इस फैसले को गलत बताते हुए मुंबई हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था.

सुनवाई के दौरान मुंबई हाई कोर्ट ने मुंबई कलेक्टर द्वारा लिए गए फैसले को गलत बताते हुए कांजुरमार्ग में चल रहे मेट्रो कार शेड के काम को तुरंत प्रभाव से रोकने के आदेश दिए जिसे सीएम उद्धव ठाकरे और उनकी सरकार के लिए बड़े झटके के तौर पर देखा गया.

मेट्रो कार शेड को बीकेसी शिफ्ट करने की खबर के बाद फडणवीस की प्रतिक्रिया

देवेंद्र फडणवीस ने मेट्रो कार शेड को बीकेसी में शिफ्ट करने की सरकार की तैयारियों पर कहा कि बुलेट ट्रेन का प्रोजेक्ट पूरी तरीके से अंडर ग्राउंड प्रोजेक्ट है. इसमें जमीन 3 लेवल नीचे तक काम किया जाएगा जमीन के ऊपर केवल 500 मीटर तक की जगह ही बुलेट ट्रेन के इस प्रोजेक्ट में इस्तेमाल की जाएगी. ऐसे में अगर महाराष्ट्र सरकार मेट्रो कार शेड के लिए लगने वाली जमीन अंडर ग्राउंड कार शेड बनाने को लेकर विचार कर रही होगी तो 500 करोड़ कंस्ट्रक्शन की कीमत 5000 हो जाएगी.

उन्होंने कहा कि अंडरग्राउंड कार शेड की मरम्मत का खर्च जमीन के ऊपर बनने वाले कार शेड से करीबन 5 गुना ज्यादा होगा. इसलिए इस तरह के पर्याय से सरकार को बचना चाहिए नहीं तो मेट्रो प्रोजेक्ट पूरी तरीके से लटक जाएगा. ऐसे में इस तरह का सुझाव जो भी सरकार को दे रहा है वह पूर्णता सरकार और राज्य को डुबाने की सलाह दे रहा है.

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*