‘साली साली होती है, घरवाली घलवाली होती है’, आखिर पाकिस्तान में सीरियल ‘जलन’ क्यों रहा विवादों में?

शुरू से विवादों में रहा पाकिस्तानी सीरियल ‘जलन’ जाते-जाते चर्चित फैंस को दोहरा दुख दे गया. सीरियल के मुख्य किरदार निशा को फैंस भूल नहीं पा रहे हैं. उन्हें उसकी कमी खल रही है. दुख की दूसरी वजह सीरियल के अंतिम एपिसोड का उन्हें पसंद नहीं आना है. सीरियल का जिस तरह अंत किया गया है, उस पर जबरदस्त बहस छिड़ गई है. लोग सवाल पूछ रहे हैं कि नकारात्मक किरदार पर सजा क्यों दी गई जबकि वास्तविक दुनिया में ऐसा नहीं होता.

पाकिस्तानी सीरियल पर जबरदस्त चर्चा

एक यूजर ने ट्विटर पर लिखा, “निगेटिव कैरेक्टर को अंत में पागल कर देने का ये नया बकवास ट्रेंड है? मुश्किल से कभी वास्तविक दुनिया में आपने ऐसा सुना होगा कि कोई अपने बुरे कामों की वजह से पागल हो गया.”

यूजर का रिएक्शन मुख्य किरदार निशा को अपनी बहन की आत्मा नजर आने पर चीखने चिल्लाने के बाद तेज रफ्तार गाड़ी चलाकर हादसे का शिकार होनेवाले दृश्य पर था. हालांकि, एक अन्य यूजर ने स्पष्ट किया कि निशा पागल नहीं हुई थी. उसे शुरू दिन से एक मनोवैज्ञानिक समस्या है. निशा स्वार्थी थी और मोहब्बत का ढोंग रचाती थी. उसे अपनी बहन मीनू से जलन था. फैंस को सीरियल का एक डायलॉग ‘एक बात का रहस्य खुल गया. ठंडे हाथ वाले लोग सचमुच बेवफा होते हैं.’ काफी पसंद आया. हालांकि उन्होंने निशा की कमी खलने पर अफसोस भी जाहिर किया.

शुरू से क्यों था जलन विवादों में?

पाकिस्तान में सीरियल जलन को काफी ‘बोल्ड’ बताया गया था. उसकी कहानी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर हमेशा चर्चा में रही. रूढ़िवादी समाज में सीरियल को कई संगीन आरोपों का सामना करना पड़ा. उसे नौजवानों को बिगाड़नेवाला और पारिवारिक रिश्तों की पवित्रता की धज्जियां बिखेरनेवाला बताया गया. सीरियल के शुरुआती एपिसोड में दर्शकों को लगा कि दो बहनों के बीच त्याग, जलन और अवैध संबंध की कहानी होगी. सीरियल में साली अपने बहनोई की दौलत से काफी प्रभावित नजर आती है. उसे अपनी झूठी मोहब्बत के जाल में गिरफ्तार कर बहन को तलाक दिलाने पर मजबूर कर देती है.

एक बहन का साजिश के तहत अपनी बहन का बसा बसाया घर तोड़ना दर्शकों को नागवार गुजरा. लोगों ने नियामक प्राधिकरण में सीरियल का प्रसारण रोकने की अपील दायर की. सोशल मीडिया पर सीरियल की कहानी को लेकर जोरदार बहस छिड़ गई. आखिरकार, लोगों के दबाव में अधिकारियों को सीरियल सेंसरशिप करना पड़ा. दृश्यों में कटौती के बाद जलन का दोबारा प्रसारण हुआ और बुधवार की रात उसका अंतिम एपिसोड था. एक यूजर सीरियल के अंतिम एपिसोड से काफी संतुष्ट नजर आई. उसने निशा की तस्वीर को शेयर करते हुए बताया कि बुराई का अंजाम हमेशा बुरा होता है.

कई यूजर स्क्रिप्ट के दमदार होने पर सीरियल की सराहना कर रहे हैं. एक यूजर को स्क्रिप्ट का एक डायलॉग बहुत पसंद आया. उसने लिखा कि गुनाह बड़े हों तो मौत भी आसानी से नहीं मिलती.

‘वेबसीरीज’ मामले में एकता कपूर को SC से मिली ये बड़ी राहतस लेकिन FIR नहीं होगी खारिज

IND vs AUS, Day 2 Dinner Break: बुमराह ने करवाई इंडिया की वापसी, मुश्किल में ऑस्ट्रेलिया

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*