Fact Check: किसान आंदोलन में सरदार ने तिरंगे का किया अपमान? जानिए क्या है ऐसी वायरल तस्वीरों की सच्चाई

नई दिल्ली: देश में किसान आंदोलन जोर पकड़ता जा रहा है. सोशल मीडिया पर किसान का मुद्दा चर्चा का विषय बना हुआ है. आंदोलनकारियों को लेकर सोशल मीडिया पर कई तरह के दावे किए जा रहे हैं. प्रदर्शनकारी सरदारों की कुछ तस्वीरें वायरल हो रही हैं और उनपर देशद्रोही होने का आरोप लग रहा है. यहां हम आपको बताते हैं आखिर क्या है इन तस्वीरों की सच्चाई.

तस्वीर- 1

एक तस्वीर वायरल हो रही है, जिसमें कुछ लोग तिरंगा का अपमान करते दिखाई दे रहे हैं. तस्वीर में एक सरदार अपना जूता तिरंगे पर रखकर सड़क पर बैठा हुआ है. एक दूसरा सरदार तिरंगे पर खड़ा हुआ है. उनके पीछे कई सारे लोग झंडा लेकर खड़े हुए हैं. इस तस्वीर को शेयर करते हुए एक शख्स ने लिखा, “यह किस तरह का विरोध है? पहले वे मोदी विरोधी थे, फिर हिंदू विरोधी हुए और अब हमारे राष्ट्रीय ध्वज पर खड़े हो गए. अपने जूतों से राष्ट्रीय ध्वज की उसकी पिटाई भी की. यूपी लोग जाग जाइए. ये किसान नहीं, बल्कि खालिस्तानी और पाकिस्तानी हैं.”

जब हमने कीवर्ड से सर्च किया तो पाया कि इस तस्वीर का किसान आंदोलन से कोई संबंध नहीं है. ये तस्वीर साल 2013 की है, जब कैलिफॉर्निया में कुछ सिख संगठन के लोगों ने भारत के खिलाफ विरोधल प्रदर्शन किया था. इन प्रदर्शनकारियों का एक एक वीडियो भी मिला है, जिसे 19 अगस्त 2013 को यूट्यूब पर अपलोड किया गया था.

तस्वीर- 2

किसानों को बदनाम करने के लिए इस तरह की कई तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं. एक अन्य तस्वीर में एक बुजुर्ग सिख तिरंगे को जूता दिखाते हुए नजर आ रहा है. साथ ही कुछ लोग तिरंगे पर खड़े हुए भी देखे जा सकते हैं. दावा किया जा रहा है कि किसान भारत के राष्ट्रीय ध्वज का अपमान कर रहे हैं.

इस तस्वीर के साथ कैप्शन में लिखा, “क्या इन्हीं किसानों पर भारत गर्व करता है. ऐसा लगता है जैसे कि विदेशी आतंकवादी, किसानों के भेष में देश में घुस आए हैं. अपने ही देश के झंडे का ऐसा अपमान हमारे राष्ट्रीय ध्वज का अपमान करना ही किसान आंदोलन है. हमें धिक्का है ऐसे किसान आंदोलन पर.”

लेकिन इस तस्वीर की सच्चाई भी कुछ और ही है. रिवर्स सर्च करने पर हमें ‘Dal Khalsa UK’ नाम का एक ब्लॉग मिला. यहां मौजूद तस्वीरों में सिख समुदाय के कुछ लोग तिरंगे झंडे का अपमान करते दिख रहे हैं. खास बात ये है कि ये ब्लॉग 17 अगस्त 2013 को प्रकाशित किया गया था. तब लंदन में कुछ सिख और अल्पसंख्यकों ने भारत पर उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए प्रदर्शन किया था. ये वायरल तस्वीर इसी विरोध प्रदर्शन की है.

ये भी पढ़ें-

Farmers Protest: abp न्यूज़ पर किसान नेता ने कहा- ‘काला कानून वापस हो’, मध्य प्रदेश के गृह मंत्री ने पूछा- ‘इसमें काला क्या है, बताएं’

कोरोना वैक्सीन के ट्रायल लिए AIIMS को नहीं मिल रहे लोग, अभी सिर्फ 200 वालंटियर ही मिले

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*