कई ट्विटर एकाउंट से 20 जनवरी के बाद गायब हो जाएगा ब्लू टिक, जानें वजह

ट्विटर तीन साल के बाद एक बार फिर से औपचारिक तौर पर वैरिफिकेशन के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करने जा रहा है. लेकिन, इस बार ट्विटर प्लेटफ़ॉर्म अपनी नई संशोधित वैरिफिकेशन पॉलिसी के साथ तैयार है और यह 20 जनवरी को लॉन्च होने जा रहा है. नवंबर में ट्विटर की तरफ से 2021 में दोबारा वैरिफिकेशन की घोषणा के बाद यूजर्स के इनपुट्स के आधार पर नई वैरिफिकेशन पॉलिसी  में बदलाव लाया गया है.

हालांकि, 20 जनवरी से वह तारीख नहीं है जब आप वैरिफिकेशन आवेदन प्रक्रिया शुरू होगी, इसलिए आप उस दिन वैरिफिकेशन के लिए आवेदन नहीं कर सकते हैं. ट्विटर के प्रवक्ता ने ‘द वर्ज’ से बताया कि आवेदन 2021 के शुरुआत में खुल जाएगा. 20 जनवरी से लागू नई पॉलिसी के तहत ट्विटर उन वैरिफाइड एकाउंट्स को हटाना शुरू कर देगा जो निष्क्रिय है या फिर नीतियों के अनुरूप खड़ा नहीं उतर रहा है.

नई कैटगरी में सरकार अधिकारियों, कंपनियों, ब्रांड्स और गैर-सरकार संगठन होंगे. ट्विटर ने पहले ही सरकारी अधिकारियों के व्यक्तिगत तौर पर एकाउंट्स को वैरिफाई करना शुरू कर दिया था, जब उसने आधिकारिक तौर पर वैरिफिकेशन की प्रकिया रोकी थी. नई कैटरगी में मीडिया आउटलेट्स, जर्नलिस्ट, इंटरटेनमेंट फिगर्स, संगठन, खेल से संबंधित एकाउंट्स और कार्यकर्ता, आयोजक और अन्य प्रभावशाली व्यक्ति शामिल होंगे. ट्विटर ने कहा है कि समय के साथ वह अपनी सूची का दायरा बढ़ाने को तैयार है.

इसके साथ ही, ट्विटर ऐसे व्यक्ति के खातों को लेबल लगाने का तरीका पेश किया है जिनकी मृत्यु हो चुकी है. हालांकि, ट्विटर ने ये नहीं बताया है कि ये लेबल किस तरह का रहेगा. ट्विटर ने एक ब्लॉग पोस्ट के जरिए कहा- हम निष्क्रिय एकाउंट्स से ब्लू टिक अपने आप हटाने पर काम कर रहे हैं.

ट्विटर ने कहा- इस पॉलिसी के तहत उन उन एकाउंट्स से भी ब्लू टिक हटा देंगे जो लगातार ट्विटर के नियमों का उल्लंघन कर रहे हैं. केस के आधार पर हम इस मूल्यांकन करेंगे और नियमों और वैरिफिकेशन को 2021 में बेहतर तरीके से लागू करेंगे. हालांकि, व्यक्तिगत तौर पर जो एकाउंट्स चलाए जा रहे हैं, ट्विटर ने कहा कि 20 जनवरी के बाद यूजर 20 जनवरी से पहले बदलाव कर सकते हैं जो नई वैरिफिकेशन पॉलिसी के अनुरूप हो. ऐसे में उनके एकाउंट से ब्लू टिक हटने का डर नहीं रहेगा.

ये भी पढ़ें: Twitter बंद कर रहा है लाइव स्ट्रीमिंग एप Periscope, जानिए क्या है वजह? 

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*