सेंट जॉर्ज चैपल के रॉयल वॉल्ट में दफनाए गए प्रिंस फिलिप, अकेले कोने में उदास नजर आयी महारानी एलिजाबेथ

<p style="text-align: justify;"><span style="color: #444444; font-family: ‘Open Sans’, serif; font-size: 15px; background-color: #ffffff;">ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ के पति, ड्यूक ऑफ एडिनबर्ग प्रिंस फिलिप का अंतिम संस्कार विंडसर कासल के सेंट जॉर्ज चैपल में&nbsp;</span><span style="color: #444444; font-family: Open Sans, serif;"><span style="font-size: 15px; background-color: #ffffff;">हो गया. <span style="color: #444444; font-family: ‘Open Sans’, serif; font-size: 15px; background-color: #ffffff;">कोरोना वायरस प्रतिबंधों की वजह से अंतिम संस्कार में सिर्फ तीस लोग ही शामिल हो पाए. इस दौरान</span></span></span><span style="color: #444444; font-family: Open Sans, serif;"><span style="font-size: 15px; background-color: #ffffff;">&nbsp;<span style="color: #444444; font-family: ‘Open Sans’, serif; font-size: 15px; background-color: #ffffff;">महारानी एलिजाबेथ एक कोने में अकेले उदास बैठी रहीं. प्रिंस फिलिप को सेंट जॉर्ज चैपल के रॉयल वॉल्ट में दफनाया&nbsp;</span></span></span><span style="color: #444444; font-family: Open Sans, serif;"><span style="font-size: 15px; background-color: #ffffff;">गया हैं. इस <span style="color: #444444; font-family: Open Sans, serif;"><span style="color: #444444; font-family: ‘Open Sans’, serif; font-size: 15px; background-color: #ffffff;">वॉल्ट में शाही परिवार के सदस्यों को ही दफनाया जाता है. प्रिंस फिलिप </span></span></span></span><span style="color: #444444; font-family: Open Sans, serif;"><span style="font-size: 15px; background-color: #ffffff;">से पहले यहां शाही परिवार के 24 अन्य सदस्यों को भी दफनाया जा चुका है. इनमें King George III, <span style="color: #444444; font-family: Open Sans, serif;">King George IV और&nbsp; King William IV शामिल हैं.&nbsp;</span></span></span></p>
<p style="text-align: justify;"><span style="color: #444444; font-family: ‘Open Sans’, serif; font-size: 15px; background-color: #ffffff;">प्रिंस फिलिप की शवयात्रा के दौरान उनके बच्चे और शाही परिवार के अन्य सदस्य उनकी शवगाड़ी के पीछे-पीछे चले. महारानी एलिजाबेथ और प्रिंस फिलिप का साथ 73 </span><span style="color: #444444; font-family: Open Sans, serif;"><span style="font-size: 15px; background-color: #ffffff;">वर्ष का था. कोविड-19 के चलते अंतिम संस्कार में सोशल डिस्टेंसिंग का भी पूरी तरह पालन किया गया और&nbsp;<span style="color: #444444; font-family: ‘Open Sans’, serif; font-size: 15px; background-color: #ffffff;">महारानी एलिजाबेथ पूरे समय सबसे अलग बैठी रही. शाही परिवार के अन्य सदस्य अपने अपने परिवार के साथ अलग-अलग बैठे रहे.&nbsp;</span></span></span></p>
<p style="text-align: justify;"><span style="color: #444444; font-family: Open Sans, serif;"><span style="font-size: 15px; background-color: #ffffff;"><span style="color: #444444; font-family: ‘Open Sans’, serif; font-size: 15px; background-color: #ffffff;">केंटरबरी के आर्कबिशप जस्टिन वेल्बी ने सबसे पहले सेंट जॉर्ज चैपल में प्रवेश किया.&nbsp;</span></span></span><span style="color: #444444; font-family: Open Sans, serif;"><span style="font-size: 15px; background-color: #ffffff;">इसके बाद <span style="color: #444444; font-family: ‘Open Sans’, serif; font-size: 15px; background-color: #ffffff;">प्रिंस फिलिप के कॉफिन के साथ उनके परिवार के सदस्य <span style="color: #444444; font-family: Open Sans, serif;">चैपल में आए. इस दौरान ब्रिटेन के लोगों ने एक मिनट का मौन रखकर प्रिंस फिलिप को अपना सम्मान दिया.&nbsp;</span></span></span></span></p>
<p style="text-align: justify;"><strong><span style="color: #444444; font-family: Open Sans, serif;"><span style="font-size: 15px; background-color: #ffffff;">शवयात्रा में इस्तेमाल कार को खुद किया था <span style="color: #444444; font-family: Open Sans, serif;"><span style="color: #444444; font-family: ‘Open Sans’, serif; font-size: 15px; background-color: #ffffff;">डिजाइन</span></span></span></span></strong></p>
<p style="text-align: justify;"><span style="color: #444444; font-family: Open Sans, serif;"><span style="font-size: 15px; background-color: #ffffff;"><span style="color: #444444; font-family: ‘Open Sans’, serif; font-size: 15px; background-color: #ffffff;"><span style="color: #444444; font-family: Open Sans, serif;">प्रिंस फिलिप के शव को एक खासतौर से तैयार की गई लैंड रोवर कार में रखा गया था. अपनी मृत्यु से पहले उन्होंने स्वयं इस कार को डिजाइन करने में मदद की थी. प्रिंस फिलिप ने गुजारिश की थी कि </span></span></span></span><span style="color: #444444; font-family: Open Sans, serif;"><span style="font-size: 15px; background-color: #ffffff;"><span style="color: #444444; font-family: ‘Open Sans’, serif; font-size: 15px; background-color: #ffffff;"><span style="color: #444444; font-family: Open Sans, serif;">उनकी शवयात्रा के लिए इस कार को सेना के हरे रंग में पोता जाए. उन्होंने अपने अंतिम संस्कार के दौरान </span></span></span></span><span style="color: #444444; font-family: Open Sans, serif;"><span style="font-size: 15px; background-color: #ffffff;"><span style="color: #444444; font-family: ‘Open Sans’, serif; font-size: 15px; background-color: #ffffff;"><span style="color: #444444; font-family: Open Sans, serif;">इस्तेमाल होने वाले रीगेलिया (शाही निशान) को भी स्वयं चुना था. इसमें रखे जाने वाले पदक, सजावट और प्रतीक भी उन्होंने पहले से ही तय किए थे.&nbsp;</span></span></span></span></p>
<p style="text-align: justify;"><strong><span style="color: #444444; font-family: Open Sans, serif;"><span style="font-size: 15px; background-color: #ffffff;">यह भी पढ़ें&nbsp;</span></span></strong></p>
<p style="text-align: justify;"><strong><a href="https://www.abplive.com/news/india/drdo-covid-hospital-near-delhi-airport-to-be-functional-from-monday-1902810">दिल्ली एयरपोर्ट के पास DRDO का कोविड अस्पताल तैयार, ऑक्सीजन सिलेंडर के साथ 500 ICU बेड की व्यवस्था</a></strong></p>
<p style="text-align: justify;"><strong><a href="https://www.abplive.com/news/world/more-than-3-million-people-died-due-to-corona-worldwide-situation-is-worsening-in-many-countries-1902812">Coronavirus: दुनियाभर में कोरोना से 30 लाख से ज्यादा लोगों की मौत, कई देशों में बिगड़ रहे हैं हालात</a></strong></p>

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*