अनानास: पोषण, स्वास्थ्य फायदे, साइड इफेक्ट्स के अलावा जानिए इस फल के बारे में

अनानास एक स्वस्थ ऊष्णकटिबंधी फल है, जो तीखा और अति स्वादिष्ट के लिए जाना जाता है. उसका मूल दक्षिण अमेरिका में है जहां शुरुआती यूरोपीय खोजकर्ताओं ने तलाश किया. पहले उसे विदेशी फल समझा जाता था, लेकिन अब ये दुनिया भर में बहुत आम हो गया है. फल का ठोस, सूखा और जूस की शक्ल में आनंद उठाया जा सकता है. उसके अति स्वादिष्ट होने के अलावा, अनानास अपने औषधीय गुणों के लिए भी जाना जाता है. फल का इस्तेमाल सदियों से पाचन और सूजन की समस्याओं के इलाज में किया जाता रहा है. जहां तक पोषक तत्वों की बात है, तब अनानास में विटामिन सी और मैग्नीज की काफी मात्रा पाई जाती है, उससे रोजाना की सिफारिश का 131 फीसद और 76 फीसद मिल जाता है.

अनानास में पोषक तत्वों की मात्रा 

कैलोरी में कम फल डाइटरी फाइबर में और ब्रोमलेन नामक एंजाइम भी ज्यादा होता है. अनानास के टुकड़े के एक कप (165 ग्राम में) कैलोरी 82.5, फैट 1.7 ग्राम, प्रोटीन 1 ग्राम, फाइबर 2.3 ग्राम, कार्बोहाइड्रेट्स 21.6 ग्राम, विटामिन 131 फीसद, विटामिन बी6 9 फीसद, कॉपर 9 फीसद, फोलेट 7 फीसद, पोटैशियम 5 फीसद, मैग्नीज 5 फीसद और आयरन 3 फीसद पाया जाता है. 

आपको अनानास क्यों खाना चाहिए

ये पाचन समस्याओं को आसान बनाने में मदद कर सकता है. अनानास में मौजूद ब्रोमलेन नामक एंजाइम प्रोटीन अणुओं को निर्माण खंडों में तोड़ने में मदद करता है. इससे उन्हें छोटी आंत में ज्यादा आसानी से अवशोषित होने, किसी भी तर हे अपच मुद्दों से राहत देने में मदद मिलती है. अनानास खाना विशेषकर उन लोगों के लिए मुफीद है जो अग्नाशयी अपर्याप्तता से जूझ रहे हैं, यानी जब अग्नाशेय पर्याप्त पाचक एंजाइम को नहीं बना सकते. उसके अलावा, उसके अधिक फाइबर और पानी की मात्रा के कारण, फल कब्ज को भी रोक सकता है और पेट की परत को स्वस्थ रखता है. 

कैंसर का खतरा कम कर सकता है

कई रिसर्च से संकेत मिला है कि अनानास में मौजूद यौगिक कैंसर से भी लड़ने में मदद कर सकते हैं, जो ऑक्सीडेटिव तनाव और पुराना सूजन के साथ आम तौर पर जुड़ता है. लैब आधारित जांच से पता चला है कि ब्रोमलेन ब्रेस्ट कैंसर की कोशिकाओं को दबा सकता है. ये स्किन में कैंसर को रोकने में भी प्रभावी हो सकता है.

ये आपकी इम्यूनिटी बढ़ा सकता है

अनानास में विटामिन्स और मिनरल्स की व्यापक किस्में पाई जाती हैं, जो इम्यूनिटी को बढ़ाने और किसी तरह के सूजन को दबाने में मदद कर सकते हैं. अनानास खाने से वायरल और बैक्टीरियल संक्रमण दोनों का खतरा भी कम हो सकता है. रिसर्च से सुझाव मिला है कि अनानास खानेवाले बच्चे साइनस संक्रमण से स्पष्ट रूप से मानक इलाज की तुलना में जल्दी ठीक हो गए. माना जाता है कि सूजन रोधी गुणों के चलते फल इम्यून सिस्टम में मदद कर सकता है.

अनानास खाने के साइड इफेक्ट

कच्चा अनानास खाने या अनानास का जूस पीना आपकी सेहत के लिए जहरीला हो सकता है. उससे डायरिया और उल्टी होने का खतरा रहता है. अनानास में अधिक विटामिन सी की मात्रा समस्याग्रस्त भी हो सकती है. बड़ी मात्रा में विटामिन सी का इस्तेमाल डायरिया, मतली, उल्टी, पेट दर्द और सीने में जलन पैदा कर सकता है. इसलिए, संतुलित मात्रा में ही अनानास इस्तेमाल करने का प्रयास करें.

पूर्व का संक्रमण और एंटीबॉडीज भी कोरोना के हमले से दोबारा बचाने की गारंटी नही- रिसर्च का दावा

Hair Loss: जानिए ऐसे फूड के बारे में जो बालों के नुकसान की बन सकते हैं वजह

 

Check out below Health Tools-
Calculate Your Body Mass Index ( BMI )

Calculate The Age Through Age Calculator

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*