Chanakya Niti: शत्रु शक्तिशाली हो तो इन बातों का हमेशा रखें ध्यान, जानें चाणक्य नीति

Chanakya Niti Hindi: चाणक्य के अनुसार व्यक्ति को सदैव सतर्क और सावधान रहना चाहिए. खतरा कभी बता करके नहीं आता है. खतरों को लेकर जो लोग लापरवाह रहते हैं और उपायों को लेकर गंभीर नहीं रहते हैं उन्हें जीवन में भारी कीमत चुकानी पड़ती है. वर्तमान समय में देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर चल रही है. कोरोना को महामारी कहा जा रहा है. इस समय इससे बचने की जरूरत है.

चाणक्य कहते हैं कि जब संकट बड़ा हो और शत्रु की शक्ति का अदांजा लगाना मुश्किल हो तो व्यक्ति को छिप जाना चाहिए. कोरोना को लेकर भी इसी तरह की रणनीति अपनाने की जरूरत है. चाणक्य के अनुसार जब शत्रु शक्तिशाली हो और दिखाई न दे तो छिपकर अपने भीतर की शक्तियों को मजबूत बनाने की दिशा में प्रयास करना चाहिए. चाणक्य कहते हैं कि बड़ी लड़ाई जोश से नहीं होश से जीती जाती है. इसलिए वर्तमान स्थिति को देखते हुए चाणक्य की इन बातों पर अमल करना चाहिए और घर में रहकर स्वयं और दूसरों का बचाने का प्रयास करना चाहिए. 

अनुशासन को अपनाएं
चाणक्य के अनुसार किसी भी कार्य में सफलता के लिए सबसे पहले अनुशासन की आवश्यकता पड़ती है. शत्रु से बचने के लिए कठोर अनुशासन का पालन करना चाहिए. शत्रु को पराजित करना है तो उसकी प्रत्येक गतिविधि को गंभीरता से लेना चाहिए और उसके उपायों को अपनाना चाहिए. विशेषज्ञों के जरिए बताए गए नियमों का कठोरता से पालन करना चाहिए.

स्वास्थ्य को बेहतर बनाएं
चाणक्य के अनुसार सेहत को ठीक रखना बहुत ही जरूरी है. अच्छी सेहत होने पर ही किसी भी परिस्थिति का मुकाबला संभव है. इसलिए सेहत के मामले में कोई लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए. सेहत को बेहतर बनाए रखने के लिए खानपान और स्वच्छता के नियमों का पालन करना चाहिए.

अपनी ताकत को बढ़ाना चाहिए
चाणक्य के अनुसार जब शत्रु अत्यंत शक्तिशाली हो तो व्यक्ति को स्वयं की ताकत बढ़ाने की दिशा में प्रयास करना चाहिए. सकारात्मक दृष्टिकोण को अपनाना चाहिए. तभी शत्रु को पराजित कर पाएंगे.

यह भी पढ़ें: Ram Navami 2021: 21 अप्रैल को है राम नवमी का पर्व, इन कार्यों को करने से मिलता है भगवान राम का आशीर्वाद

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*