IND vs AUS: इस कारण साल 2020 को याद नहीं रखना चाहेंगे विराट कोहली, 12 साल में पहली बार हुआ ऐसा

नई दिल्ली: विराट कोहली को दुनिया के सबसे बेहतरीन बल्लेबाजों में से एक माना जाता है. रन मशीन कोहली हमेशा अहम मौकों पर टीम के लिये रन बनाते हैं. लेकिन विराट साल 2020 को याद नहीं रखना चाहेंगे. इसके पीछे वजह है कि भारतीय क्रिकेट कप्तान ने अपने क्रिकेट करियर में 12 साल में पहली बार बिना कोई अंतर्राष्ट्रीय शतक के साल का समापन किया है.

विराट कोहली टीम इंडिया की तरफ से 87 टेस्ट मैचों में 53.41 की औसत से 27 शतक औऱ 23 अर्धशतक जमा चुके हैं. उनके नाम 7318 रन हैं. वहीं, 251 वनडे में कोहली 59.31 की औसत से 12040 रन बना चुके हैं. जिसमें उनके 43 शतक और 60 फिफ्टी शामिल हैं. वहीं, 85 टी-20 में विराट 2928 रन बना चुके हैं. जिसमें उनके नाम 25 अर्धशतक हैं. हालांकि कोहली ने 12 साल में पहली बार बिना शतक के साल का समापन किया.

भारत को हालांकि 26 दिसंबर से ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मेलबर्न में बॉक्सिंग डे टेस्ट खेलना है, लेकिन कोहली उस मैच का हिस्सा नहीं होंगे क्योंकि वह अपने पहले बच्चे के जन्म के कारण स्वदेशा लौट जाएंगे.

कोहली ने 2008 में अपने पदार्पण के समय आखिरी बार बिना किसी शतक के साल का समापन किया था. हालांकि उस साल उन्होंने केवल पांच ही मैच खेले थे. लेकिन इस बार उन्होंने 22 अंतर्राष्ट्रीय मैच खेले हैं. कोरोना के कारण भारत ने इस साल करीब नौ महीने कोई मैच नहीं खेला है. 2009 के बाद से यह पहली बार है जब कोहली ने 22 से कम मैच खेले हैं. उन्होंने इस साल सात अर्धशतक लगाए हैं.

कोहली ने 2019 में सात शतक और 14 अर्धशतक, 2018 में 11 शतक और नौ अर्धशतक तथा 2017 में 11 शतक और 10 अर्धशतक लगाए थे. भारतीय कप्तान इस साल ऑस्ट्रेलिया दौरे पर तीन बार शतक के करीब जाकर अपना शतक बनाने से चूक गए. इसके अलावा उन्होंने पहले डे-नाइट टेस्ट की पहली पारी में भी 74 रनों की पारी खेली थी. कोहली ने इस साल वनडे में पांच अर्धशतक और टेस्ट तथा टी-20 में एक-एक अर्धशतक बनाया है.

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*