दिल्ली में 24 घंटे में आए 20,201 नए केस, सर्वाधिक 380 मरीजों की हुई मौत

नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कोरोना के नए मामलों में बेतहाशा बढ़ोतरी जारी है. स्वाथ्य विभाग के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में 20,201 नए मामलों की पुष्टि हुई है और 380 मरीजों की मौत हुई है. यह एक दिन में सर्वाधिक मौत का आंकड़ा है. 57690 लोगों का टेस्ट किया गया है.

दिल्ली में अब तक 10,47,916 लोग संक्रमित हुए हैं और 14628 मरीजों की मौत हुई है. एक दिन में पिछले मंगलवार को सबसे अधिक 28395 लोग संक्रमित हुए थे.

एक सप्ताह के रिकॉर्ड
रविवार को 22933 लोग संक्रमित हुए थे और 350 मरीजों की मौत हुई.
शनिवार को 24103लोग संक्रमित हुए थे और 357 मरीजों की मौत हुई.
शुक्रवार को 24331 लोग संक्रमित हुए थे और 348 मरीजों की मौत हुई.
गुरुवार को 26169 लोग संक्रमित हुए थे और 306 मरीजों की मौत हुई.
बुधवार को 24638 लोग संक्रमित हुए थे और 249 मरीजों की मौत हुई.
मंगलवार को 28395 लोग संक्रमित हुए थे और 277 मरीजों की मौत हुई.

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को कहा कि दिल्ली सरकार शहर में 18 साल से ऊपर के व्यक्तियों को नि:शुल्क कोविड-19 टीका उपलब्ध कराएगी और 1.34 करोड़ खुराकों की खरीद को मंजूरी दे दी गई है.

उन्होंने कहा कि सरकार टीकों की खरीद और लोगों को टीका लगाने की गति तेज करने के लिए प्रयास करेगी. केजरीवाल ने कहा कि कोविड-19 टीकों की कीमत एक ही होनी चाहिए और उन्होंने केंद्र से कीमतें कम करने की अपील की.

उन्होंने टीका उत्पादकों से कीमतें कम करने की अपील करते हुए कहा कि यह मानवता की मदद करने का समय है लाभ कमाने का नहीं.

कोरोना से मचे हाहाकार के बीच सोमवार को सीएम केजरीवाल ने लॉकडाउन एक हफ्ते और बढ़ाने का एलान किया था. उन्होंने कहा कि 19 अप्रैल की रात को लगाया गया लॉकडाउन तीन मई सुबह पांच बजे तक जारी रहेगा. राष्ट्रीय राजधानी में पहले लॉकडाउन को 26 अप्रैल की सुबह पांच बजे खत्म होना था.

उन्होंने कहा, “ हमें कुछ और दिन स्थिति देखनी होगी कि मामले घटते हैं या बढ़ते हैं.” मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस का प्रकोप सरकार द्वारा छह दिन का लॉकडाउन लगाने के बावजूद कम नहीं हुआ है.

Lockdown: पंजाब में नाइट कर्फ्यू का समय बढ़ाया गया, वीकेंड लॉकडाउन का भी एलान

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*