दिल्ली: कोरोना काल में भी बड़े पैकेज की Jobs के मौके, IGTUW  की छात्रा को गूगल ने ऑफर किया 59.45 लाख का पैकेज


कोरोना संकट काल में जब देश पर ताला लग गया तो कई कंपनियां को भी आर्थिक संकट से गुजरना पड़ा. इस दौरान कई कंपनियां बंद भी हो गई और कई लोगों की नौकरियां चली गई हैं. लेकिन इस आपदा काल में भी कुछ लोगों को बड़े अवसर मिले हैं और इन्हें बड़े पैकेज के साथ नौकरियां ऑफर हो रही हैं. बता दें कि दिल्ली की इंदिरा गांधी टेक्निकल यूनिवर्सिटी फॉर विमन की इंजिनियरिंग की स्टूडेंट्स को काफी अच्छे प्लेसमेंट ऑफर मिल रहे हैं. गौरतलब है कि अब तक इंजिनियरिंग की 341 छात्राओं को प्लेसमेंट ऑफर मिल चुके हैं. खास बात ये है कि इनमें से कई ऑफर गूगल, माइक्रोसॉफ्ट, एटलासियन जैसी बड़ी कंपनियों से भी मिले हैं.

एक छात्रा को 59.45 लाख के पैकेज का ऑफर मिला

बता दें कि गूगल इंडिया ने यूनिवर्सिटी की एक छात्रा जपलीन कौर को 59.45 लाख का सालाना पैकेज ऑफर किया है. कैंपस में पहली बार पहुंची कंपनी एटलासियन ने भी 9 छात्राओं को 51.5 लाख रुपये का सालाना पैकेज ऑफर किया है. माइक्रोसॉफ्ट कंपनी द्वारा भी 20 स्टूडेंट्स को फुल टाइम प्लेसमेंट का ऑफर दिया गया है. गौरतलब है कि ये सभी स्टूडेंट्स कंप्यूटर साइंस, आईटी, इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्यूनिकेशन इंजिनियरिंग से हैं. यूनिवर्सिटी के अब तक का ऐवरेज पैकेज 14 लाख रुपये सालाना से ऊपर रहा है.

अगस्त में शुरु हुआ था प्लेसमेंट सीजन

वहीं आईजीडीटीयूडब्लयू की ट्रेनिंग प्लेसमेंट ऑफिसर और डीन अकैडमिक अफयेर्स डॉ जसदीप कौर के मुताबिक अगस्त में यूनिवर्सिटी में प्लेसमेंट सीजन की शुरुआत की गई थी और नवंबर-दिसंबर में कई स्टूडेंट्स को काफी अच्छे ऑफर मिले हैं. उन्होंने बताया कि 477 स्टूडेंट्स में से 341 की प्लेसमेंट हो चुकी है. वहीं उन्होंने यह भी बताया कि कैंपस में प्लेसमेंट सीजन अप्रैल महीने तक चलेगा. कुछ कंपनियां जनवरी में भी विजिट कर सकती हैं. उन्होंने बताया कि हर साल हमारे 80 प्रतिशत स्टूडेंट्स नौकरी के लिए जाते हैं. वहीं 2 से 5 प्रतिशत आंत्रप्रिन्योरशिप या फिर सिविल सर्विसेज की तैयारी करने में जुट जाते हैं. बाकी के 15 प्रतिशत स्टूडेंट्स हायर स्टडीज के लिए जाते हैं. यानी इस हिसाब से इस सेशन के लिए ज्यादातर स्टूडेंट्स जॉब हासिल कर चुके हैं.

स्टूडेंट ने प्लेसमेंट ड्राइव में दी शानदार परफॉरमेंस

वहीं आईजीडीटीयूडब्लयू की वाइस चांसलर डॉ अमिता देव कहती हैं कि, कोविड संकट के बावजूद हमारे स्टूडेंट्स ने प्लेसमेंट ड्राइव में काफी शानदार परफॉर्मेंस दी है. मार्केट की जरूरतों के लिहाज से हमने भी अपने कोर्स डिजाइन किए हैं. इतना ही नहीं हमारी टीम छात्राओं की कम्यूनिकेशन स्किल्स और उनकी पर्सनैलिटी डेवलेपमेंट को भी सेमिनार का आयोजन करती रहती हैं. उन्होंने कहा कि यूनिवर्सिटी को प्लेसमेंट की संख्या और ज्यादा बढ़ने की पूरी उम्मीद है.

ये भी पढ़ें

Weather Update: दिल्ली में आज गिर सकता है 2 डिग्री तक टेंपरेचर ! इन राज्यों में बारिश की है संभावना-जानें पूरा हाल

पीएम मोदी बोले- ‘आत्मनिर्भर भारत के लिए मैन्युफैक्चरिंग पर है विशेष फोकस, इसे बढ़ाने के लिए निरंतर कर रहे सुधार’

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*