Akshaya Tritiya 2021 Date: कब है अक्षय तृतीया? जानें शुभ मुहूर्त

Akshaya Tritiya 2021 Date in India: पंचांग के अनुसार 14 मई 2021 शुक्रवार को वैशाख मास की शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि है. इस तृतीया तिथि को अक्षय तृतीया कहा जाता है. शुभ और मांगलिक कार्य को करने के लिए अक्षय तृतीया का दिन अत्यंत शुभ माना गया है. इस तिथि में किए गए कार्य का फल अक्षय माना जाता है. इसी कारण शुभ कार्यों के लिए अक्षय तृतीया को विशेष महत्व दिया जाता है.

अक्षय तृतीया मे शादी विवाह, गृह प्रवेश, नया व्यापार, वाहन, भूमि, भवन, नया कारोबार आरंभ करना बहुत ही शुभ माना जाता है. पंचांग और ज्योतिष शास्त्र के अनुसार अक्षय तृतीया पर सूर्य और चंद्रमा अपनी उच्च राशि में रहते हैं. इस कारण भी इस तिथि को शुभ माना जाता है. अक्षय तृतीया पर इन चीजों से जुड़े कार्य कर सकते हैं-
– वाहन खरीद
– गृह प्रवेश करना 
– आभूषण खरीदना 
– सोना खरीदना
– भूमि संबंधी कार्य 
– बाजार में निवेश 
– नवीन व्यापार का आरंभ

अक्षय तृतीया से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातें
अक्षय तृतीया के दिन ही भगवान परशुराम का जन्म हुआ है. मान्यता है कि अक्षय तृतीया के दिन ही भगवान विष्णु के चरणों से धरती पर गंगा अवतरित हुई थीं. इसके साथ ही सतयुग, द्वापर और त्रेतायुग के आरंभ की गणना अक्षय तृतीया से मानी गई है. 

Vaisakha 2021: चैत्र मास का होने जा रहा है समापन, इस दिन से आरंभ होगा वैशाख, जानें व्रत और त्योहार

अक्षय तृतीया पर इनका करें दान
अक्षय तृतीया पर दान का विशेष महत्व बताया गया है. इस दिन इन चीजों का दान करना चाहिए.
– पंखा
– चावल
– नमक 
– घी 
– चीनी 
– सब्जी 
– फल 
– इमली
– कपड़ा

अक्षय तृतीया शुभ मुहूर्त 

तृतीया तिथि का आरंभ: 14 मई 2021 को प्रात: 05 बजकर 38 मिनट से.
तृतीया तिथि का समापन: 15 मई 2021 को प्रात: 07 बजकर 59 मिनट तक.
अक्षय तृतीया पूजा मुहूर्त: प्रात: 05 बजकर 38 मिनट से दोपहर 12 बजकर 18 मिनट तक
अवधि: 06 घंटा 40 मिनट

अन्य स्थानों पर अक्षय तृतीया मुहूर्त का समय
नई दिल्ली: प्रात: 05 बजकर 38 मिनट से दोपहर 12 बजकर 18 मिनट
चेन्नई: प्रात: 05:0 बजकर 44 मिनट से दोपहर 12 बजकर 05 मिनट 
जयपुर: प्रात: 05 बजकर 40 मिनट से दोपहर 12 बजकर 23 मिनट
कोलकाता: प्रात: 04 बजकर 56 मिनट से प्रात: 07 बजकर 59 मिनट 
मुंबई: प्रात: 06 बजकर 04 मिनट से दोपहर 12 बजकर 35 मिनट
बेंगलुरु: प्रात: 05 बजकर 55 मिनट से दोपहर 12 बजकर

यह भी पढ़ें: Rashifal: वृष राशि में बुध का गोचर, राहु के साथ बनने जा रही है युति, सभी 12 राशियों पर पड़ेगा प्रभाव

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*