बिहारः कोरोना से पिता की मौत हुई तो बेटे ने रोते हुए खोल दी स्वास्थ्य व्यवस्था की पोल, पढ़िए दर्द भरी दास्तां

पूर्णियाः सोमवार की रात पूर्णिया शहर के एक प्राइवेट अस्पताल में कोरोना पीड़ित मरीज को भर्ती कराया गया जिसकी मंगलवार की सुबह मौत हो गई. मरीज की हुई मौत के बाद उसके बेटे ने एक वीडियो बनाकर स्वास्थ्य व्यवस्था की पोल खोल दी है. वीडियो में उसने बताया है कि किस तरह व्यवस्था की कमी की वजह से उसके पिता की जान चली गई.

उसने कहा कि वह ऑक्सीजन के लिए इधर-उधर भटकता रहा लेकिन कहीं से मदद नहीं मिली. विधायक व सांसद से भी भीख मांगी. वेंटीलेटर के अभाव में उसके पिता ने दम तोड़ दिया. उसके बेटे राज ने वीडियो में अपने पिता के शव को दिखाते हुए पूर्णिया के लोगों को चेतवानी दी कि जो भी करना है खुद से कीजिए. सिस्टम के भरोसे रहने से मारे जाएंगे सब. यहां व्यवस्था के नाम पर कुछ भी नहीं है.

रेमडेसिविर के लिए देना पड़ा एक इंजेक्शन के लिए 35 हजार

राज ने बताया कि उसके पिता को छह डोज रेमडेसिविर इंजेक्शन की जरूरत थी. सिविल सर्जन से गुहार लगाने पर एक इंजेक्शन मिला. बाकि के इंजेक्शन के लिए 35 हजार रुपये के दर से देना पड़ा. उसने भावुक होकर कहा कि उसके पिता जन प्रतिनिधियों के साथ रहते थे. जरूरत पड़ने पर कोई सामने नहीं आया.

राज के भावुक होकर कहा कि चुनाव में जिस वादे के साथ जनप्रतिनिधि आते हैं उसे सच मान लेना गलती होगी. चुनाव में जब वोट लेने के लिए ये लोग आते हैं तो आपदा में सामने क्यों नहीं आते. स्वास्थ्य व्यवस्था इतनी लचर है कि कोई भी इस आपदा को अवसर बना कर लोगों को ठग रहा है. निजी अस्पताल वाले बिना किसी व्यवस्था के कोरोना मरीज को लेकर, लाखों का बिल बना रहे हैं और फिर ऐसे ही तड़पता छोड़ देते हैं.

यह भी पढ़ें- 

तेजस्वी का छलका दर्द, कहा- तड़प रहे लोगों की मदद नहीं कर पा रहा, इतना असहाय कभी अनुभव नहीं किया

बिहारः आरा के पिरौंटा में पंजाब नेशनल बैंक में डकैती, फायरिंग में एक बदमाश को लगी गोली

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*