Coronavirus in Uttarakhand: मास्क ना पहनने वालों से जुर्माना वसूलने के बाद ‘फ्री’ दिए जाएंगे चार Mask, एक करोड़ खर्च करेगी सरकार 

<p style="text-align: justify;"><strong>देहरादून:</strong> उत्तराखंड में कोरोना वायरस संक्रमण के बेकाबू प्रसार के मद्देनजर मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने मंगलवार को राजकीय मेडिकल कालेजों के चिकित्सालयों की क्षमता में वृद्धि और सुदृढ़ीकरण के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष से 10 करोड़ रुपये स्वीकृत किए. इसके अलावा, राज्य में मास्क ना पहनने वालों से जुर्माना वसूली के बाद उन्हें चार मास्क निशुल्क उपलब्ध कराने के लिए भी मुख्यमंत्री राहत कोष से एक करोड़ रुपये स्वीकृत किए गए. ये राशि पुलिस महानिदेशक के निवर्तन पर रखी गई है.&nbsp;</p>
<p style="text-align: justify;">कोरोना संक्रमण की वर्तमान परिस्थितियों से प्रभावी रूप से निपटने के लिए अग्रिम मोर्चे पर रहकर काम कर रहे कोरोना योद्धाओं को बचाव के लिए आर्सेनिकम अल्बम और अन्य सुरक्षा संबंधी सामग्री वितरित करने, लक्षणों के आधार पर अन्य आवश्यक औषधियों के लिए होम्योपैथिक चिकित्सा सेवाओं को भी मुख्यमंत्री राहत कोष से 1.18 करोड़ रुपये की स्वीकृति दी गई है.</p>
<p style="text-align: justify;">इसके अतिरिक्त रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित करने के लिए आयुष रक्षा किट खरीदने, राज्य और जिला स्तर पर आयुष डेस्क की स्थापना करने, कोविड सुरक्षा सामग्री क्रय करने तथा जिला मुख्यालयों में आयुष रथ संचालित करने के लिए 4.64 करोड रुपये की राशि भी मुख्यमंत्री राहत कोष से स्वीकृत की गई है.</p>
<p style="text-align: justify;">कोरोना संक्रमण से बचाव और राहत से संबंधित विभिन्न कार्यों के लिए बागेश्वर और रुद्रप्रयाग के जिलाधिकारियों को दो&mdash;दो करोड़ रुपये, चमोली और ऊधमसिंह नगर के जिलाधिाकारी को 1-1 करोड़ रुपये उनकी मांग के अनुरूप भी दिए गए है.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>कंपनियों की जिम्मेदारी और अधिक बढ़ जाती है</strong><br />इसके अलावा, मुख्यमंत्री तीरथ ने यहां सेलाकुई में लिंडे ऑक्सीजन प्लांट का निरीक्षण किया और प्लांट के अधिकारियों की तरफ से विद्युत आपूर्ति सुचारू ना होने से उत्पादन में आ रही समस्याओं के बारे में ध्यान आकर्षित किए जाने पर उसके समाधान का भरोसा दिलाया. उन्होंने कहा कि कोरोना काल में ऑक्सीजन की बहुत आवश्यकता है और उनकी हर समस्या का निदान किया जाएगा. उन्होंने कहा कि कोविड की वर्तमान परिस्थितियों में ऑक्सीजन प्लांट कंपनियों की जिम्मेदारी और अधिक बढ़ जाती है.&nbsp;</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>ऑक्सीजन की कमी नहीं होनी चाहिए</strong><br />मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि प्रदेश के अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी नहीं होनी चाहिए, इस बात का खासतौर पर ध्यान रखा जाए. उन्होंने कहा कि संकट की इस घड़ी में एक दूसरे की मदद करना सबकी जिम्मेदारी है और सबको अपनी जिम्मेदारियां पूरी गंभीरता से निभानी चाहिए.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>ये भी पढ़ें:&nbsp;</strong></p>
<h4 class="article-title"><a href="https://www.abplive.com/states/up-uk/haridwar-kumbh-2021-last-shahi-snan-seem-faded-due-to-corona-cases-1906539">Haridwar Kumbh: कोरोना की वजह से फीका रहा आखिरी शाही स्नान, करीब 670 साधु-संतों ने गंगा में लगाई डुबकी</a></h4>

Source link ABP Hindi


Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*